Research on the effects of having corona have revealed long-term effects on one out of every 10 people even eight months after mild covid-19

यवतमाल. वैद्यकिय महाविद्यालय के आइसोलेशन वार्ड, विविध कोविड केअर सेंटर तथा कोविड हेल्थ सेंटर में भर्ती 296 कोरोनामुक्त होने से उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज दिया गया. तो जिले में विगत चौबीस घंटों में तीन कोरोनाबाधित मरीजों की मौत हो गई. जिले में नये से 95 पाजिटिव मामले सामने आए है. तीन मृतकों में यवतमाल शहर के 58 वर्षीय व घाटंजी शहर के 55 वर्षीय पुरुष और आर्णी तहसील के 55 वर्षीय महिला का समावेश है.

नये पाजिटिव निकले 95 मरीजों में 69 पुरुष व 26 महिला है. इनमें यवतमाल शहर के 30 पुरुष व 16 महिला, यवतमाल तहसील के दो पुरुष व एक महिला, आर्णी तहसील का एक पुरुष, बाभुलगाव तहसील का एक पुरुष, दारव्हा शहर के एक पुरुष व दो महिला, दारव्हा तहसील का एक पुरुष, दिग्रस शहर के तीन पुरुष व एक महिला, कलंब शहर के पाच पुरुष व एक महिला, महागाव शहर के चार पुरुष, महागाव तहसील के सात पुरुष व एक महिला, पांढरकवडा शहर के एक पुरुष, पुसद शहर के एक पुरुष व एक महिला, रालेगाव शहर का एक पुरुष, उमरखेड तहसील की एक महिला, वणी शहर के आठ पुरुष व एक महिला, वणी तहसील के दो पुरुष व एक महिला, झरीजामणी शहर के एक पुरुष का समावेश है.

वैद्यकिय महाविद्यालय की ओर से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्तमान में जिले में 559 एक्टिव पाजिटिव भर्ती होकर होम आइसोलेशन में 543 उपचार ले रहें है. शुरूवात से लेकर अबतक जिले में कुल पाजिटिव मरीजों की संख्या 8190 हो गई है. इनमें से 6838 स्वस्थ होने से उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज दिया गया है. तो जिले में अबतक कुल 250 कोरोनाबाधितों की मौत की संख्या दर्ज है. वर्तमान में आइसोलेशन वार्ड में 275 मरीज भर्ती है. सरकारी वैद्यकिय महाविद्यालय ने शुरूवात से लेकर अबतक  72766 सैंपल भेजे होकर इनमें से 71702 प्राप्त तो 1064 अप्राप्त है. तथा 63512 नागरिकों के सैंपल अबतक निगेटिव निकलने की जानकारी वैद्यकिय महाविद्यालय के प्रशासन ने दी.