हेल्पिंग हैंड फार हंगर्स का अन्नदान कार्य आदर्श और अनुकरणीय

– औद्योगिक सुरक्षा और स्वास्थ्य विभाग के उपसंचालक स्वप्निल देशमुख का प्रतिपादन

अहमदनगर. कोरोना महामारी के कारण संक्रमण रोकने के लिए देशभर में लाकडाउन जारी है.ऐसी स्थिति में गरीब, जरूरतमंद, स्थलांतरित मजदूर, अस्पतालों के कर्मचारी, सेवक, सेविका, मरीज, उनके परिजन, पुलिस, महापालिका के कर्मचारी आदि को केवल 10 रुपए में चावल-सांबर और 20 रुपए में उत्तम दर्जे का भोजन उपलब्ध करा कर हेल्पिंग हैंड फार हंगर्स संस्था ने सराहनीय काम किया है. लाकडाउन के दौरान अन्नदान का यह कार्य आदर्श और अनुकरणीय है. ऐसा प्रतिपादन औद्योगिक सुरक्षा और स्वास्थ्य विभाग के उपसंचालक स्वप्निल देशमुख ने किया.

मार्ग इस संस्था की ओरसे हेल्पिंग हैंडस फार हंगर्स संस्था को विशेष सम्मानपत्र प्रदान करने के दौरान देशमुख ने यह प्रतिपादन किया.उद्योजक राजेंद्र मालू, मार्ग संस्था के सदस्य क्राम्प्टन ग्रीवज के अधिकारी ज्ञानेश्वर ढमाले, होगनास कंपनी के सुभाष तोडकर,एक्साईड कंपनी के महेंद्र त्रिगुणे,एल एंड टी कंपनी के चैतन्य खानवेलकर,उद्योजक तसीश ठोसर,जीकेएन सिंटर कंपनी के संग्राम कदम,अन्नछत्र के नाना भोरे,अविनाश मुंड के,अनुपम खोंडे,किशोर कुलकर्णी आदि उपस्थित थे.

यह कार्य शुरू रहेगा

स्वप्निल देशमुख ने कहा कि नगर एमआईडीसी में अनेक कंपनीयों ने एकसाथ आकर मार्ग संस्था की स्थापना की है. कंपनी में सुरक्षितता बढाने के लिए स्थापित इस संस्था ने सामाजिक प्रतिबध्दता के के लिए लाकडाउन के समय में अनाज,किराना साहित्य की आपूर्ति की है. हजारो जरूरतमंद लोगोंको इस के कारण भोजन की सुविधा उपलब्ध हुई.आनेवाले समय में भी यह कार्य शुरू रहेगा, ऐसा विश्वास देशमुख ने व्यक्त किया.