Wardha market Bhid

    • ली राहत की सांस
    • मास्क लगाकर ही लोग निकले घरों से बाहर

    अकोला. पिछले करीब 50 दिनों से भी अधिक समय के बाद आज शहर तथा जिले में सभी प्रकार के प्रतिष्ठान खुले. आज सुबह 8 बजे से ही लोग अपने घरों से बाहर निकल गए थे. लोगों ने कपड़े की दूकानों, होजियरी की दूकानों, कटलरी की दूकानों के साथ साथ विविध दूकानों में जाकर अपनी जरूरत के सामान की खरीदी की. जिन लोगों के यहां शादी ब्याह या और कोई शुभ कार्य है उन्होंने जरूरत के अनुसार सोने चांदी के गहने खरीदे.

    क्योंकि पिछले काफी लंबे समय से बाजार बंद होने के कारण लोग अपनी जरूरत का सामान नहीं खरीद पाए थे. आज सभी तरह के प्रतिष्ठान दोपहर 2 बजे तक खुले रहे. इस कारण बाजारों में थोड़ी भीड़ हो गई थी लेकिन लोग मास्क लगाकर ही अपने घरों से बाहर निकले. 

    कई दिनों बाद लौटी बाजारों की रौनक -नरेशभाई शाह

    स्थानीय नवरत्न ज्वेलर्स के संचालक नरेशभाई शाह से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि करीब 55 दिनों के बाद आज बाजार खुला है. दोपहर 2 बजे तक ही सही बाजारों की रौनक वापस लौटी है. उन्होंने कहा कि बाजारों का टर्नओवर पूरी तरह रूक गया था. अब वह शुरू हो सकेगा. उन्होंने कहा कि जैसे जैसे कोरोना के रोगी कम होंगे उस अनुसार जिला प्रशासन ने प्रतिष्ठान को खोलने के समय में वृद्धि करनी चाहिए. तभी स्थिति सुधर सकेगी. सभी ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए नियमों का पालन करना चाहिए. 

    सूचनाओं का सख्ती से पालन हो -रामप्रकाश मिश्रा

    इगल इन्फ्रा इं.लि. के संचालक रामप्रकाश मिश्रा से बातचीत करने पर उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन ने दोपहर 2 बजे तक सभी प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति दी है. यह ठीक है लेकिन इसके साथ साथ सभी प्रतिष्ठानों और सभी लोगों ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए सरकार द्वारा जो निर्देश दिए गए हैं उनका पूरी सख्ती से पालन करना चाहिए. जिससे कोरोना के प्रसार पर रोक लगाई जा सके. अन्यथा फिर से स्थिति बिगड़ने की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता है. 

    बेरोजगारी दूर होगी -अजय अग्रवाल

    स्थानीय महाराष्ट्र मेडिकल स्टोर्स के संचालक अजय अग्रवाल का कहना है कि दोपहर 2 बजे तक सभी प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति जिला प्रशासन ने दी है इससे बाजारों में व्यापार को थोड़ी गति मिलेगी और बेरोजगारी भी निश्चित ही दूर होगी. इसी तरह जैसे जैसे कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या कम होगी जिला प्रशासन ने प्रतिष्ठानों को खोलने का समय बढ़ाकर देना चाहिए क्यों कि पिछले काफी लंबे समय से बंद होने के कारण बाजारों में आर्थिक मंदी की स्थिति आ गई है. सभी लोगों ने कोरोना को रोकने के लिए सरकार द्वारा दी गयी सूचनाओं का पूरी तरह पालन करना चाहिए.