उमेद की जिलास्तरीय भव्य प्रदर्शनीय परसबाग राज्य में एकमात्र माडेल

    • परसबाग की सब्जी उत्तम स्वास्थ्यवर्धक आहार
    • सीईओ सौरभ कटियार

    अकोला. उमेद अभियान के अंतर्गत जिले के ग्रामीण भागों में परसबाग लगाने का प्रयास हो रहा है. इस परसबाग में उगाई सेंद्रीय व आहारमूल्य सब्जी यह संपूर्ण परिवार के लिए उत्तम स्वास्थ्यवर्धक आहार है. परसबाग तैयार करने के उपक्रम को अधिक गति प्रदान करने का मत जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौरभ कटियार ने व्यक्त किया है. उमेद अभियान अंतर्गत जिला ग्रामीण विकास यंत्रणा में निर्मित जिलास्तरीय पोषण परसबाग को मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौरभ कटियार ने भेंट दी.

    इस अवसर पर वे बोल रहे थे. इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुभाष पवार, जिला अभियान व्यवस्थापक महाराष्ट्र राज्य ग्रामीण जीवनोन्नती अभियान के गजानन महल्ले, उमेद अभियान के सभी जिला व्यवस्थापक व तहसील अभियान व्यवस्थापक, जिला ग्रामीण विकास यंत्रणा प्रकल्प संचालक सूरज गोहाड, कृषि विज्ञान केंद्र की विशेषज्ञ ‍कीर्ती देशमुख आदि उपस्थित थे. 

    महाराष्ट्र राज्य ग्रामीण जीवनोन्नती अभियान अंतर्गत जिले में 15 जून से 15 जुलाई इस अवधि में माझी पोषण परसबाग विकसन मुहिम चलाई जा रही है. इस अवसर पर मार्गदर्शन करते हुए मुख्य कार्यकारी अधिकारी कटियार ने परसबाग का महत्व समझाकर बताया. अभियान अंतर्गत ग्रामीण भागों के बालक, किशोरी, गर्भवती महिला, वृद्ध महिला व पुरुष की पोषण स्थिति सुधारने के लिए सेंद्रिय पद्धति से उगाई शुद्ध पोषण परसबाग यह संकल्पना समझाकर बताई.

    ग्रामीण भागों के गर्भवती महिला, स्तनदा माता, बालक और किशोरी को आहार से पोषाहार मिले व उनकी शारीरिक व बौद्धिक वृध्दि होने के लिए इस मुहिम के अंतर्गत पोषण परस बाग की निर्मिति की गई है. जिले में कोरोना काल में ग्रामीण महिलाओं ने 4,100 परस बाग की निर्मिति की है. अभियान अंतर्गत जिले में 2018 से अब तक आहार, पोषण व स्वच्छता विषयक कार्यक्रम चलाए जा रहे है.

    जिसमें ग्रामीण भागों में पोषण और स्वास्थ्य की स्थिति सुधारने के लिए विशेषता गर्भवती माता, स्तनदा माता व 6 से 24 माह आयु वर्ग के बालक और किशोरी की आहार में नियमित स्वच्छ व जैविक पद्धति ने उगाई ताजी सब्जी व फल आदि का समावेश होने के लिए उमेद अभियान प्रयत्न कर रहा है. जिले में महिलाओं ने ऐसे पद्धत की परसबाग तैयार करने का आहवान भी सीईओ कटियार ने किया है. ऐसे पद्धत से परसबाग जिला स्तर पर तैयार करनेवाला अकोला यह एकमात्र जिला है. 

    परसबाग के लिए जिला ग्रामीण विकास यंत्रणा के प्रकल्प संचालक सूरज गोहाड के मार्गदर्शन में उक्त उपक्रम कार्यान्वीत किया गया है. ‍कृषि विज्ञान केंद्र की विशेषज्ञ किर्ती देशमुख का उक्त प्रकल्प को तकनीकी सहयोग मिला.