YouTuber Arrested: Chennai YouTuber arrested by police for making 'obscene' remarks against women

    • अपराधियों को बख्शा नहीं जाएगा
    • पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर 

    अकोला. अकोला में पिछले 10 माह में 25 समाजकंटकों पर एमपीडीए कानून के अंतर्गत कार्रवाई की गई है. प्राप्त जानकारी के अनुसार इस तरह कार्रवाई करने में राज्य में अकोला प्रथम स्थान पर है. इसी तरह महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम की धारा 55 के अंतर्गत 40 अपराधिक गिरोह पर तड़ीपार की कार्रवाई की गई है. इसी तर धारा 56 के अनुसार 138 समाजकंटकों के विरोध में प्रस्ताव तैयार है.

    69 का आदेश निकल चुका है. पिछले करीब 5 वर्षों में सिर्फ तीन समाजकंटकों के खिलाफ एमपीडीए की कार्रवाई की गई थी. यह उल्लेखनीय है कि इन प्रतिबंधात्मक कार्रवाई में सर्वाधिक कार्रवाई पुराना शहर के क्षेत्र के समाजकंटकों पर की गई है. फिलहाल पुलिस द्वारा की गई प्रतिबंधात्मक कार्रवाई में महाराष्ट्र में अकोला अग्रणी है.  

    अपराधियों का बख्शा नहीं जाएगा

    इस बारे में अकोला के पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि समाज में अपराधिक गतिविधियां कम हो, इस उद्देश्य से हाथ भट्टी द्वारा शराब बनानेवाले, समाजकंटक, गुंडागर्दी तथा मारपीट करनेवाले, समाज में दहशत फैलानेवाले लोगों के खिलाफ पुलिस ने अपना ध्यान केंद्रित किया है. और महाराष्ट्र गुनहगारी संरक्षण कानून 1981 के अनुसार कार्रवाई शुरू की गई है.

    4 अगस्त 2020 को सिटी कोतवाली पुलिस थाने के अंतर्गत तड़ीपार की पहली कार्रवाई की गई और 28 मई 2021 तक एमपीडीए के अंतर्गत 25 केसेस किए गए. जिसमें 13 हाथ भट्टीवाले, 12 समाजकंटक हैं. उन्होंने बताया कि इस तरह की प्रतिबंधात्मक कार्रवायियों के कारण चोरियों, लूटपाट, गुंडागर्दी की घटनाओं पर नियंत्रण लग रहा है. बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग की नजर समाजकंटकों पर है. किसी भी समाजकंटक को बख्शा नहीं जाएगा.   

    स्मार्ट पुलिसिंग को प्राथमिकता

    उन्होंने बताया कि पुलिस विभाग की गाडियों पर जीपीएस लगाए गए हैं. इसी तरह अस्पताल, शहर संवेदनशील स्थानों पर क्यूआर स्टिकर लगाए गए हैं. इसी तरह शहर के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सीसीटीवी भी हैं. उस अनुसार भी पुलिस का ध्यान लगा रहता है. इस तरह स्मार्ट पुलिसिंग द्वारा भी अपराधों पर नियंत्रण किया जाता है.   

    अपराधियों के खिलाफ शिकायत करें

    पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर ने बातचीत के दौरान कहा कि यदि किसी क्षेत्र में बहुत अधिक गुंडागर्दी है. पुलिस बराबर काम कर रही है. लोगों का भी काम है कि समाजकंटकों के खिलाफ पुलिस के पास शिकायत करें. शिकायत करनेवालों का नाम गुप्त रखा जाएगा. शिकायत आने के बाद पुलिस द्वारा शीघ्र कार्रवाई की जाएगी. समाजकंटकों से डरने की जरूरत नहीं है. पुलिस आपके साथ है.