मनपा की आम सभा में घमासान – निधि वितरण से भाजपा-शिवसेना में दरार

  • पार्षदों में विवाद

अकोला. महानगर पालिका में भारतीय जनता पार्टी को स्पष्ट बहुमत है. जिससे सत्ताधारी भाजपा विश्वास में न लेते हुए प्रत्येक प्रस्ताव बहुमत के बल पर मंजूर कर रही है. यह आरोप शिवसेना के गुटनेता राजेश मिश्रा ने किया है. 15 करोड़ रू. की निधि वितरण से 16 दिसंबर को मनपा की आम सभा में शिवसेना के पार्षदों ने घमासान किया है. नगरोत्थान व दलितेत्तर निधि कौनसे प्रभाग में कितनी देंगे इसकी सूचि पूर्व महापौर विजय अग्रवाल ने पढ़कर दिखाई.

भाजपा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी व एमआईएम पार्टी के पार्षदों को निधि अधिक फिर शिवसेना के पार्षदों को क्यों हटाया गया है. यह सवाल शिवसेना के पार्षदों ने रखा है. एक भाजपा के पार्षद ने निधि वितरण बराबर होने का बताया जिससे राजेश मिश्रा का गुस्सा फूटा. इसके बाद भाजपा-शिवसेना पार्षदों में खासा विवाद हुआ. शहर के दुर्गा चौक से नेहरू पार्क, गौरक्षण रोड – भोले चौक से क्रांति चौक, सिटी कोतवाली से शिवाजी पार्क, निमवाडी लक्जरी बस स्टैण्ड से सिटी कोतवाली मार्ग पर 1,500 बिजली के खंबे खड़े करने का प्रस्ताव मंजूर किया गया.

इसके लिए 1 करोड़ 13 लाख रू. का खर्च होनेवाला है. सभा में महापौर अर्चना मसने, उप महापौर राजेंद्र गिरी, आयुक्त संजय कापडणीस, विजय अग्रवाल, डा. जिशान हुसेन, अजय शर्मा, हरीश अलिमचंदानी, साजिद खान पठान, राजेश मिश्रा, गजानन चव्हाण, मंगेश काले, सतीश ढगे आदि पार्षद, विभाग प्रमुख, अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे. 

समिति के अहवाल के अनुसार कार्रवाई -आयुक्त

इसके पूर्व मनपा महासभा में मंजूर किए प्रस्ताव की शिकायत शिवसेना ने की है. उस पर विभागीय आयुक्त ने समिति गठित की है. उस समिति ने अपना अहवाल सरकार की ओर भेजा है. समिति की सूचना के अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी. यह इसवक्त आयुक्त संजय कापडणीस ने स्पष्ट किया है. तथा महासभा ने मंजूरी दिए कोई भी कार्य को आयुक्त मंजूरी दे सकते है. यह भी बताया है.

आयुक्त के सामने रखी गंदे पानी की बोतल

प्रभाग में गंदे पानी की आपूर्ति होने का बताकर काँग्रेस के पार्षद मो. इरफान ने गंदे पानी की बोतल भरकर लाकर आयुक्त के सामने रखी. इस पर जलप्रदाय विभाग के कार्यकारी अभियंता सुरेश हुंगे ने अमृत के क्रास कनेक्शन से पानी गंदा होने का बताया. इस प्रकरण में संबंधित अभियंता की ओर से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा. 

अग्रवाल के भाषण से सभा में हँसी छाई

पूर्व महापौर विजय अग्रवाल ने अपने विनोदी शैली में आज भी भाषण किया. इस दौरान बीच में शिवसेना के पार्षद गजानन चव्हाण उठकर खड़े हो गए. उस पर अग्रवाल ने कहा कि गजानन ऐसी गड़बड़ मत कर हमारा और शिवसेना का कभी भी गठबंधन (एलायंस) हो सकता है. इसके साथ ही तबीयत खराब होने पर हम भी डा. जिशान हुसेन के क्लिनिक में जाते है. तब हम यह काँग्रेस का इंजेक्शन है, ऐसा नही कहते. इंजेक्शन लगवाते है. ऐसा बोलते ही सभा में हँसी छाई.