शहर में बढ़ा अतिक्रमण का साम्राज्य ,घुट रहा सड़कों का दम

  • प्रशासन की कार्रवाई ठंडे बस्ते में

अमरावती. महानगरपालिका तथा पुलिस प्रशासन के सुस्त रवैए के चलते इन दिनों शहर अतिक्रमण के जंजाल में फंस गया है. बेतरतीब पार्किंग तथा हाकरों के मनमानी के चलते शहर की सड़कें खुली सांस के लिए तरस गई है. शहर की ऐसी कोई सड़क या चौराहा नहीं, जहां अतिक्रमण ने पैर नहीं पसारे है.

इस वजह से पैदल चलनेवाले राहगीरों के साथ वाहनों को चलने तक के लिए पर्याप्त जगह नहीं मिल पा रही है. परिणामस्वरुप सड़कों पर जाम लगना आम हो गया है और छिटपुट सड़क दूर्घटनाओं की भी संख्या बढ़ गई है. लेकिन इसके बावजूद प्रशासन धृतराष्ट्र बना हुआ है.

फुटपाथ, सड़कों पर सजा रहे बाजार

शहर में करोड़ों रुपए की निधि से निर्माण कांक्रीट सड़कों पर विभिन्न प्रकार का बाजार सजा है. पानीपुरी, भेल, चाट, ज्यूस आदि खाद्य पदार्थों समेत जूते, बर्तन, टेडी बेयर, कपड़े, प्लास्टिक की वस्तुएं, फल-सब्जी विक्रेता आदि की दूकानें बेखौफ चल रही है. इस अतिक्रमण ने सड़कों का फुटपाथ तो अपने कब्जे में ले ही लिया है. साथ ही सड़कों की आधी जगह भी अपने गिरफ्त में ले ली है. बडनेरा नईबस्ती तो इसका सबसे बड़ा उदाहरण बन गया है. सोमवार को साप्ताहिक बाजार के दिन सड़क पर बाजार सजना आम बात हो गई है. जिससे तंग आ चुके व्यापारियों के मन में मनपा प्रशासन को लेकर नाराजी है.  

हर चौक-चौराहे पर अतिक्रमण

शहर का प्रत्येक चौक, हर सड़क अतिक्रमण की गिरफ्त में है. राजकमल चौक से अंबादेवी रोड, राजकमल चौक से सरोज चौक, जयस्तंभ से जवाहर गेट, राजापेठ से राजकमल चौक, इतवारा रोड, चित्रा चौक से मालवीय चौक, चौधरी चौक से विलास नगर रोड, गांधी चौक, गांधी चौक से रवि नगर चौक, पुराना बायपास रोड, बडनेरा रोड, पंचवटी से शेगांव नाका रोड, कल्याण नगर चौक से रुख्मिणी नगर चौक, प्रशांत नगर रोड, यशोदा नगर चौक, दस्तूर नगर आदि समेत विभिन्न चौक चौराहों पर बेतरतीब पार्किंग और हॉकरों का कब्जा है.

चौधरी चौक में बीच सड़कों पर सब्जी की हाथगाड़ियों का कब्जा है. इसी बडनेरा रोड पर भी सब्जी की हाथगाडियों के कारण खरीदारों की गाडियां ट्राफिक जाम कर रही है. किसी दिन बढ़ी दुर्घटना से बी इंकार नहीं किया जा सकता. राजापेठ पुलिस स्टेशन से सटे बडनेरा रोड पर भी हाथगाडियों का ही बेजा कब्जा हो गया है. 

पुलिस की नाक के नीचे अतिक्रमण

शहर की अन्य सड़कों की तरह गाड़गे नगर स्थित पुलिस्ट स्टेशन के ठिक सामने भी लोगों ने दूकानें सजा रही है. यातायात में बाधाएं उत्पन्न हो रही है, लेकिन इसके बावजूद पुलिस प्रशासन का ध्यान नहीं है.  

कहां से आ गए इतने हाकर्स

वैसे भी कोरोना के चलते अचानक हाथगाडियों की संख्या जबरदस्त बढ़ी हैं. लेकिन कही भी हाथगाडियां खड़ी कर देना उचित नहीं है. महानगरपालिका द्वारा चलाई गई पंजीयन मुहिम के तहत पंजीबध्द हाकर्स नियमों का पालन करते है, लेकिन पंजीबध्द नहीं होने के बाद भी फुटपाथ व सड़कों पर कही भी हाथगाडियां खड़ी करने वालों पर एक्शन लेने में देर नहीं होनी चाहिए.-गणेश मारोटकर, अध्यक्ष हाकर्स यूनियन 

शीघ्र उठाएंगे ठोस कदम 

कोरोना लॉकडाउन और अनलॉक के बाद, शहर में अतिक्रमण बढ़ा गया है. मनपा प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जा रही है. यह कार्रवाई लगातार जारी रखी जाएगी. पुलिस सुरक्षा के लिए मैनपावर की कमी होने से कार्रवाई धीमी हो गई थी. पुलिस सुरक्षा के लिए मैनपावर मांगा गया है, जिसके बाद अतिक्रमण के खिलाफ ठोस कदम उठाए जाएंगे.- गणेश कुत्तरमारे, अतिक्रमण विभाग प्रमुख, मनपा