Contaminated water supply in 37 villages, health of villagers in danger

नांदगांव खंडेश्वर. नगर पंचायत द्वारा शहर में की जाने वाली दूषित  पेयजलापूर्ति को लेकर शहर में रोष व्याप्त है. वार्ड क्र. 5 के ओंकार खेडा में हरीदास राउत के घर में  पानी भरने के दौरान नल से नारु निकलने से लोगो्ं का गुस्सा फुट पड़ा. कोरोना काल में लोगों के स्वास्थ के साथ हो रहे इस खिलावड को तुरंत रोकने व स्वच्छ पेयजलापूर्ति करने की मांग गांव वासियों ने की. 

डेढ फिट का आकार
इस समय एक ओर कोरोना जैसी महामारी व दूसरी ओर मौसमी बिमारियों का भय लोगों को परेशान कर रहा है . उस पर नगर पंचायत प्रशासन द्वारा नागरिकों को दूषित पेयजलापूर्ति किया जाना लोगों की सेहत के साथ खिलवाड है. ऐसे आरोप नागरिकों ने लगाते हुए बताया है कि हमेशा ही नलों में से दूषित, मटमैला पानी आता है.

गुरुवार को राउत परिवार जब पीने का पानी नल में से भर रहा था तभी नल में से डेढ़ फिट का नारु निकला जिसे देखकर बच्चों की चिख तक निकल गई. गांव में यह खबरे फैलते ही लोग आग बबूला हो गए. नागरिकों ने फिल्टर का उचित उपयोग कर स्वच्छ जलापूर्ति करने की मांग नपं से की है. अन्यथा आंदोलन की चेतावनी दी है.