Remdesivir Injection AUR

    औरंगाबाद. शहर पुलिस आयुक्तालय के क्राइम ब्रांच पुलिस (Crime Branch Police) ने  कोरोना महामारी के इस संकट में रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) की कालाबाजारी (Black Marketing) करनेवाले दो अभियुक्तों को गिरफ्तार (Arrested) करने कामयाबी हासिल की है। उन दोनों आरोपियों से  6 इंजेक्शन जप्त किए। यह दोनों आरोपी जरुरतमंद मरीज को एक इंजेक्शन 35 हजार रुपए में बेच रहे थे। दोनों आरोपियों की पहचान संदिप आप्पासाहाब चवली, गोपाल गांगवे के रुप में की गई है। 

    क्राइम ब्रांच के एसीपी रविन्द्र सालोखे  ने बताया कि अपराध शाखा के एपीआई मनोज शिंदे और उनकी टीम को सूचना मिली थी कि उक्त दोनों आरोपी पुंडलीक नगर परिसर में जरुरतमंद मरीज को एक रेमडेसिविर इंजेक्शन 35 हजार रुपए में बेचने आ रहे है। इसी जानकारी पर पुलिस ने पुंडलीक नगर परिसर में जाल बिछाकर उन दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया। 

    पुलिस ने 6 इंजेक्शन बरामद किया

    उन दोनों आरोपियों से पुलिस ने छह इंजेक्शन बरामद किए। पुलिस को पूछताछ में उन दोनों आरोपियों ने बताया कि यह इंजेक्शन उन्होंने परभणी के शेलके नामक व्यक्ति से प्राप्त किए है। पुलिस ने इन अभियुक्तों से 6 इंजेक्शन के अलावा बाइक और मोबाइल ऐसा करीब पौने दो लाख का माल जप्त किया। उन  दोनों आरोपियों के खिलाफ शहर के  पुंडलीकनगर थाना में विविध धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया गया है। यह कार्रवाई शहर के सीपी डॉ. निखिल गुप्ता, डीसीपी मीना मकवाना, क्राइम ब्रांच के एसीपी रविन्द्र सालोखे, पीआई अविनाश आघाव के मार्गदर्शन में एपीआई मनोज शिंदे, औषधि निरीक्षक जीवन जाधव, हेड कांस्टेबल संतोष गंगावने, चन्द्रकांत गवली, भगवान शिलोटे, कांस्टेबल रितेश जाधव, विशाल पाटिल, आनंद वाहुल, राजकुमार सूर्यवंशी, शिनगारे ने पूरी की।