पुलिस ने नष्ट की देशी शराब की चार भट्टियां

भंडारा. वैनगंगा नदी तट पर धड़ल्ले से चल रही देशी शराब की चार भट्टियों को पुलिस ने छापा मारकर नष्ट कर दिया. पुलिस ने चार स्थानों पर छापा मारकर 5 लाख, 98 हजार, 250 रूपए का माल जप्त किया. देशी शराब की भट्टी पर छापा मारने के लिए पुलिस ने पहली बार नाव को उपयोग में लाया है.

वैनगंगा में हाथ भट्टी से शराब बनाने का काम बड़े पैमाने पर होता है, इसकी जानकारी जब पुलिस को मिली तो पुलिस ने इसकी जानकारी जिलाधिकारी को दी. जिलाधिकारी संदीप कदम, पुलिस अधीक्षक वसंत जाधव, अपर पुलिस अधीक्षक अनिकेत भारती ने शराब भट्टियों पर छापा मारा और उसे नष्ट कर दिया. विगत सोमवार को जिला प्रशासन की ओर से की गई इस कार्रवाई को अंजाम देने के लिए घटनास्थल पर पहुंचने के लिए नाव का उपयोग किया गया. यह पहला मौका था जब इस तरह की कार्रवाई करने के लिए नाव को उपयोग में लाया है. कारधा के थानेदार दीपक वानखेडे अपने दल के साथ अवैध रूप से चलायी जा रही शराब भट्टियों पर छापा मारा. शराब भट्टियों के आसपास लोहे के ड्रम, मिट्टी के 50 मटके, महुआ को मिलाकर 1 लाख, 47 हजार, 250 रूपए की सामग्री जप्त की गई. 

जिला प्रशासन के पहली कार्रवाई श्यामराव जगनाडे के खिलाफ की जाने वाली थी, लेकिन वह मौका ताड़कर वहां से फरार हो गया. दूसरी कार्रवाई इसी क्षेत्र में की गई, जिसमें छह लोहे के ड्रम, मिट्टी के 35 मटके, महुआ तथा 1 लाख, 43 हजार रूपए की सामग्री जप्त की गई. आरोपी सुरेंद्र बलदेव कांबले (रहवासी आंबाडी) भी वहां से मौका ताड़कर भाग गया. इसके बाद जिला प्रशासन के दल ने तीसरी कार्रवाई की, इसमें पुलिस ने 1 लाख, 63 हजार रूपए की सामग्री जप्त की. आरोपी रवि मेश्राम की ओर से उक्त सामग्री सब्त की गई. चौथी कार्रवाई में आकाश मेश्राम की भट्टी पर हुई यहां से सात लोहे के ड्रम, मिट्टी के 15 मटके, प्लास्टिक की थैलियां को मिलाकर 1 लाख, 44 हजार रूपए की सामग्री जब्त की. देशी शराब मनाने वाले आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है. जिला प्रशासन की इस कार्रवाई से अवैध रूप से शराब बनाने वालों में खलबली मच गयी है.