Rainfall
File Photo

भंडारा (का). अगस्त माह में जोड़ नक्षत्र में मूसलाधार वर्षा हुई. 30 अगस्त से सूर्य का मघा नक्षत्र शुरु हुआ था, जिसका समापन 12 सितंबर को हुआ और 13 सितंबर से सूर्य का उत्तरा नक्षत्र शुरु हुआ है, यह नक्षत्र 25 सितंबर को समाप्त होगा और उसके बाद 26 सितंबर को सूर्य हस्त नक्षत्र शुरू हो जाएगा. 13 सितंबर से शुरु हुए उत्तरा नक्षत्र का वाहन मोर है, इस वजह से जोरदार वर्षा होने की उम्मीद व्यक्त की जा रही है.

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पूर्वा, मघा तथा उत्तरा नक्षत्र में जोरदार वर्षा होती है. उत्तरा नक्षत्र के बारे में ऐसा कहा जाता है कि इस नक्षत्र में वर्षा होने से उत्पादन ज्यादा होता है. अब देखना यह है कि उत्तरा नक्षत्र में कितनी वर्षा होती है और भंडारा जिले के किसानों के लिए उत्तरा नक्षत्र की वर्षा कितनी फलदायी साबित होती है.