जिले में अब तक ३१ प्रश बारिश दर्ज

बुलढाना. मानसून विभाग की माने तो इस वर्ष अच्छी बारिश होने की आशंका मानसून विभाग ने दी थी. किंतु जिले में बारिश के प्रमाण को देख ऐसा कुछ दिखाई नहीं दिया. बता दें की जिले में अब तक २,७3६ मिमी बारिश

बुलढाना. मानसून विभाग की माने तो इस वर्ष अच्छी बारिश होने की आशंका मानसून विभाग ने दी थी. किंतु जिले में बारिश के प्रमाण को देख ऐसा कुछ दिखाई नहीं दिया. बता दें की जिले में अब तक २,७3६ मिमी बारिश दर्ज की गई. पिछले वर्ष के आंकडों पर नजर डाले तो 3,०५५ मिमी बारिश जिले में हुई थी. पिछले वर्ष के आंकडों के अनुसार इस वर्ष करीब 3०० मिमी बारिश कम हुई. जून महिने के आखरी हफ्ते से जुलाई महिने के दूसरे हफ्ते तक मानसून की ओर से जिले में कभी खुशी कभी गम जैसी बारिश देखने को मिली यानी कभी मूसलाधार तो कभी बूंदाबांदी जैसी बारिश हुई. जिले भर में अब तक कुल 3१.५२ प्रश बारिश दर्ज की गई.

अब तक दर्ज बारिश
बुलढाना तहसील में 3५.3४, चिखली तहसील में 3६.६४, देवलगांवराजा तहसील में २७.०3, सिंदखेडराजा तहसील में 3४.५६, लोणार तहसील में 33.४९, खामगांव तहसील में २६.3७, शेगांव तहसील में 33.3८, मलकापुर तहसील में 3०.६3, मोताला तहसील में 33.५४, संग्रामपुर तहसील में २४.८८, जलगांव जामोद तहसील में 3२.६3 तथा जिले में सर्वाधिक बारिश मेहकर में ४०.33 व जिले में सबसे कम बारिश नांदुरा १९.२० मि.मी हुई.

पैनगंगा नदी उफान पर
बीते २ दिनों में मूसलाधार बारिश के चलते पैनगंगा नदी उफान पर बहने लगी जिसके कारण बुलढाना शहर को जलपुर्ति करने वाला येलगांव बांध का जलस्तर करीब ५० सें.मी बढा. सूत्रों के अनुसार मिली जानकारी के मुताबिक बांध अभी भी ७० प्रश खाली है. बीते दो महीनों में पहली बार पैनगंगा नदी का पानी बहकर बांध में पहुंचा.