10 रेती घाटों के नीलामी की प्रक्रिया अटकी

जिले में इस वर्ष रेती घाटों की नीलामी में देरी की गई़ परिणामवश अब तक केवल 8 रेती घाटों की नीलामी हो पायी है़ वर्तमान में 10 ऐसे रेतीघाट है, जो नीलामी योग्य बताये जा र

नहीं मिल रही पर्यावरण समिति की अनुमति

वर्धा (का). जिले में इस वर्ष रेती घाटों की नीलामी में देरी की गई़ परिणामवश अब तक केवल 8 रेती घाटों की नीलामी हो पायी है़ वर्तमान में 10 ऐसे रेतीघाट है, जो नीलामी योग्य बताये जा रहे है़ किंतु राज्यस्तरीय पर्यावरण समिति की अनुमति न मिलने से यह रेती घाट नीलामी की प्रतीक्षा में बताये जा रहे है. बता दे कि, हरवर्ष अमूमन फरवरी माह तक रेती घाटों की नीलामी प्रक्रिया पूर्ण की जाती है़ किंतु जिले में इस वर्ष रेती घाटों की नीलामी में देरी की गई़ परिणामवश सरकार का करोड़ों रुपयों का राजस्व डूब गया़ वहीं दूसरी ओर आम जनता को भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है़ मकानों के निर्माण के लिए रेती न मिलने से मजबूरन नागरिक रेती के लिए अधिक पैसे चुका रहे है़ इसका लाभ रेतमाफिया उठाते नजर आ रहे है. नीलामी न होनेवाले घाटों से रेती का अवैध उत्खनन कर इसकी अधिक मूल्य में बिक्री करने को गोरखधंधा इन रेतमाफियाओं ने चला रखा है़ इस ओर संबंधित विभाग की पूर्णत: अनदेखी हो रही है़ सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिले में 10 रेती घाट नीलामी योग्य बताये जा रहे है़ किंतु पिछले कुछ दिनों से पर्यावरण समिति की बैठक न होने से यह प्रक्रिया अधर में अटकी पड़ी हुई है़ जब तक राज्यस्तरीय पर्यावरण समिति, मुंबई की अनुमति नहीं मिलती तब तक इन रेती घाटों की नीलामी हो पाना संभव नहीं बताया गया़ परिणामवश यह रेती घाट रेतमाफियाओं के रडार पर आ गए है़ कुछ घाटों से धड़ल्ले से रेती का अवैध उत्खनन व ढुलाई हो रही है़ इससे सरकार का करोड़ों रुपयों का राजस्व डूब रहा है़ रेती घाटों के नीलामी में हुई देरी से अब तक 3 करोड़ रुपयों का नुकसान प्रशासन को होने की जानकारी है़

नीलामी योग्य रेती घाट

प्राप्त जानकारी के अनुसार देवली तहसील के वर्धा नदी तट पर स्थित आपटी-2, हिवरा-1, यशोदा नदी तट पर सोनेगांव, टाकली, हिंगनघाट तहसील के वना नदी तट पर घाटसावली, वर्धा नदी तट कुरण (रि.), यशोदा नदी तट भागवा-2, समुद्रपुर तहसील के वना नदी तट पर स्थित वाकसुर-2, वाकसुर-3, वाकसुर-4 यह 10 रेती घाट नीलामी योग्य बताये जा रहे है़

जब्त होंगा अवैध रेती संचय

जिलास्तरीय दस्ते ने देवली तहसील के मौजा गुंजखेडा व हिवरा (हाडके) के रेती घाट पर हो रहे अवैध रेती उत्खनन के खिलाफ कार्रवाई की़ इसमें दो ट्रैक्टर व रेत संचय जब्त किया गया था़ इस मामले में संबंधीत ट्रैक्टर मालिकों पर जुर्मानात्मक कार्रवाई की जाएगी़ साथ ही उक्त रेती घाट से की अवैध रूप से किया गया रेत का संचय जब्त होंगा़ इस संबंध में संबंधित तहसील प्रशासन को निर्देश दिये गए है़ मौजा गुंजखेडा स्थित वर्धा नदी से सटे संकटमोचन हनुमान मंदिर समीप करीब 20 ब्रास रेती, वल्लभनगर स्थित नवीन कॉटन मिल ले-आउट परिसर में 7 स्थानों पर रखी 200 ब्रास, इसी ले-आउट के दक्षिण दिशा में रखी 100 ब्रॉस रेती, अशोक राहीले के मकान समीप संचित की गई 220 ब्रॉस रेती, मौजा गुंजखेडा परिसर से 56 ब्रॉस, मौजा पुलगांव के पूनम पैलेस मंगल कार्यालय के पार्किंग परिसर में रखी 400 ब्रॉस रेती जब्त की जाएगी़.