covid-19 crisis is an opportunity to re-strategize: UBI chief

नई दिल्ली. यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (यूबीआई) के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राजकिरण राय जी. ने कहा कि कोविड-19 संकट के कारण पैदा हुआ व्यवधान व्यवसायों के लिए फिर से रणनीति बनाने और खुद की क्षमताओं को समझने का अवसर है। उन्होंने पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा आयोजित एक वेबिनार में शुक्रवार को कहा कि बैंकिंग उद्योग हमेशा व्यवसायों की मदद के लिए मौजूद है, लेकिन उन्हें भी नवाचार पर जोर देना होगा और तय परिपाटी से आगे सोचना होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘मौजूदा व्यवधान फिर से रणनीति बनाने और फिर से खोज करने का एक मौका है। सेवा के लिए नए क्षेत्रों की तलाश करें। आप नए उत्पादों की पेशकश कर सकते हैं, जहां भी संभव हो रणनीतिक साझेदारी कर सकते हैं।” यूनियन बैंक प्रमुख ने यह भी कहा कि छोटे और मझोले उद्यमों (एसएमई) के पास वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला में दस्तक देने का वास्तविक अवसर हैं, क्योंकि बड़ी संख्या में कंपनियां खरीदारी में विविधता लाना चाहती हैं।

उन्होंने कहा कि छोटे व्यवसाय ज्यादातर एक व्यक्ति पर निर्भर होते हैं, ऐसी कंपनियों को बैंकों के डिजिटल साधनों को अपनाना चाहिए ताकि बैंक तेजी से उन्हें कर्ज देने के बारे में मूल्याकंन कर सकें। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना वायरस महामारी के बाद बैंकिंग और व्यवसायों, दोनों के लिए डिजिटल का महत्व बहुत अधिक बढ़ने वाला है।(एजेंसी)