PAL-V Flying Car
PAL-V Flying Car

फरवरी 2020 से लगातार इसके परीक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

नई दिल्ली: फ्लाइंग कार बनाने वाली प्रसिद्ध डच (Dutch) कंपनी PAL-V दुनिया की सबसे पहली उड़ने वाली कार अब जल्द ही इस्तेमाल के लिए बाजार में उतरेगी। इस कार का नाम PAL-V Liberty है। फिलहाल खास बात यह है कि, यूरोप (Europe) सरकार ने PAL-V Liberty के सड़कों पर इस्तेमाल की मंजूरी भी दे दी है। अब दुनिया भर में फ्लाइंग कारों का सपना देख रहे लोग उसे सच में अनुभव कर सकेंगे। वैसे इसे शुरुआत में महज कम​र्शियल वाहन (Commercial Vehicle) के रूप में प्रयोग किया जाएगा।  

वर्ष 2012 में पहली बार हुआ था परीक्षण 
हाल ही में इस कार ने सख्त यूरोपीय रोड़ परीक्षणों को पास किया है। अब इसे आधिकारिक लाइसेंस प्लेट के साथ सड़कों पर चलाने की अनुमति मिल गई है। बताते चलें कि फरवरी 2020 से लगातार इसके परीक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें हाई स्पीड ब्रेक और ध्वनि प्रदूषण परीक्षण शामिल होंगे। कंपनी ने इस कार का प्रोटोटाइप सबसे पहले साल 2012 में उड़ाया था। जिसके बाद से इसका लगातार परीक्षण जारी है।

यह होगी कीमत 
लिबर्टी कमर्शियल की कीमत 399,000 डॉलर करीब 2.52 करोड़ रुपये से शुरू होगी। हालांकि, इस कीमत में अभी टैक्स को शामिल नहीं किया गया है। इस कार को 2015 में EASA (यूरोपियन एविएशन सेफ्टी एजेंसी) के साथ एविएशन सर्टिफिकेशन के लिए भी भेजा जा चुका है। जिसे 2022 तक फाइनल किया जा सकता है। उसके बाद ही इस प्रोडक्ट की डिलीवरी शुरू होगी। पाल-वी सीटीओ माइक स्टेकेलबर्ग कहते हैं कि, “हम इस मील के पत्थर तक पहुंचने के लिए कई वर्षों से सड़क प्राधिकरणों के साथ सहयोग कर रहे हैं। इस कार की  फ्लाइंग को सफल बनाने के लिए इसका डिज़ाइन हवा और सड़क दोनों नियमों का पालन करता है।” 

ऐसी है स्पीड और इंजन  
PAL-V लिबर्टी में दोहरे इंजन का प्रयोग किया गया है। इसमें एकसाथ केवल दो लोग सवारी कर सकते हैं। कंपनी के मुताबिक, इसकी टॉप स्पीड 160 किमी प्रति घंटा है, वहीं यह महज नौ सेकंड से कम समय में शून्य से 100 किलोमीटर तक की रफ्तार पकड़ सकती है। यह कार एक बार में 1,315 किलोमीटर तक की उड़ान भर सकती है। उड़ान मोड में यह 180 किमी प्रति घंटे की अधिकतम स्पीड और 500 किलोमीटर पर सीमित है।