उत्सव : सरकारी नियमों का पालन करें : जिलाधीश

  • सादगी से मनाएं नवरात्रोत्सव

चंद्रपुर. कोविड 19 के चलते इस वर्ष नवरात्रोत्सव, दुर्गापूजा, दशहरा अत्यंत सादगी तथा शासन के सूचनाओं पर अमल करने मनाने का निर्णय लिया है. नवरात्रोत्सव व दशहरा त्योहार पर शासन द्वारा दिए गए सूचनाओं का पालन कर मनाने का आह्वान जिलाधीश अजय गुल्हाने ने किया है. पूर्व अनुमति लेना जरूरी जिलाधिकारी ने कहा कि नवरात्रोत्सव के दौरान मंडलों ने मनपा, स्थानिक प्रशासन की पूर्व अनुमति लेना आवश्यक होगा.

इस वर्ष नवरात्रोत्सव सादगी से मनाने की दृष्टि से घरेलू तथा सार्वजनिक देवी की मूर्ति की सजावट की जाए. देवी की मूर्ति की उंचाई सार्वजनिक मंडल के लिए 4 फीट व घरेलू देवी की उंचाई 2 फीट हो. इस वर्ष पारम्पारिक देवी की मूर्ति के बजाय घर के धातु तथा संगमरमर की मूर्तियों का पूजन किया जा सकता है. पर्यावरण पुरक मूर्ति होने पर घर में ही उसका विसर्जन किया जा सकता है. विसर्जन पर स्थानीय प्रशासन से समन्वय रखने का आह्वान किया है.

नवरात्रोत्सव में चंदा व दान स्वेच्छा से दिए जाने पर स्वीकार करे. विज्ञापन प्रदर्शन से भीड़ आकर्षित न हो इस पर ध्यान दिया जाए. थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था स्वास्थ विषयक व सामाजिक संदेश देने वाले विज्ञापन प्रदर्शित करने पर जोर दिया जाए. गरबा, दांडिया व अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम के बजाय स्वास्थ विषय कार्यक्रम, उपक्रम शिविर आदि जनजागृति कार्यक्रम लिए जाने पर जोर दिया है. आरती, भजन, कीर्तन आदि धार्मिक कार्यक्रम में भीड़ न हो. मंडप में निर्जंतुकीकरण तथा थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो. देवी के आगमन व विसर्जन रैली पर इस वर्ष रोक लगायी है.

मनपा, विविध मंडल, गृहनिर्माण संस्था, जन प्रतिनिधि, स्वयंसेवी संस्था आदि की सहायता से कृत्रिम तालाबों की निर्मित किया जाए. दशहरे के दिन रावण दहन कार्यक्रम सभी नियमों को ध्यान में रखकर प्रतीकात्मक स्वरुप करने का आह्वान किया है. रावण दहन हेतु आवश्यक कम से कम व्यक्ति उपस्थित रहे. कोविड-19 के प्रादुर्भाव को रोकने शासन के सहायता व पुनर्वास, स्वास्थ, पर्यावरण, वैद्यकीय शिक्षण विभाग तथा संबंधित महानगरपालिका, पुलिस, स्थानीय प्रशासन द्वारा दिए गए नियमों का पालन करना बंधनकारक है.