On an average, each administrator has the responsibility of 4 gram panchayats.

इस प्रकार एक प्रशासक को चार ग्रापं का जिम्मा संभालना पड रहा जिससे प्रशासनिक कार्य पर प्रतिकूल परिणम पड़ रहा है।

  • 68 ग्रापं का जिम्मा संभाल रहे 17 प्रशासक
  • कार्यो पर पड़ रहा प्रतिकूल परिणाम

ब्रम्हपुरी. जिले समेत राज्य की कुछ ग्राम पंचायंत का कार्यकाल समाप्त हो गया था किंतु वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से चुनाव कराना संभव न होने से ग्राम पंचायतों पर प्रशासक नियुक्त किये गये है। जिसमें तहसील के 68 ग्राम पंचायतों की जिम्मेदारी महज 17 विस्तार अधिकारी, केंद्र प्रमुख एवं पंचायत समिति के कर्मचारियों को सौंपी है। इस प्रकार एक प्रशासक को चार ग्रापं का जिम्मा संभालना पड रहा जिससे प्रशासनिक कार्य पर प्रतिकूल परिणम पड़ रहा है।

कार्यकाल समाप्त हो चुके ग्रामपंचायतों पर प्रशासक नियुक्त करने का निर्णय महाविकास आघाडी सरकार ने लिया था। किंतु विपक्षियों ने इस निर्णय को न्यायालय में चुनौती दी थी। न्यायालय ने इस पर सुनवाई करते हुए प्रशासकीय सेवा में कर्मचारियों की प्रशासक के रूप में नियुक्ति करने का आदेश दिया इसके चलते सरपंच पदों का सर्वाधिकार वाले प्रशासक पद पर नियुक्ति के लिए शुरू राजनीतिक दलों के छुटभैये नेताओं की घुडदौड़ थम गई है।

न्यायालय के आदेश अनुसार प्रशासकीय सेवा में अधिकारियों की प्रशासक के रूप में नियुक्ति की गई है। ब्रम्हपुरी तहसील में सितंबर महीने में कार्यकाल समाप्त हुए 68 ग्रामपंचायतों पर प्रशासक नियुक्त किए गए है। न्यायालय के निर्देंश अनुसार केवल पंचायत, शिक्षण, कृषि आदि विभाग के विस्तार अधिकारियों की नियुक्ति करना अनिवार्य है।

ब्रम्हपुरी तहसील में पंचायत विभाग के विस्तार अधिकारी के पास 68 ग्रामपंचायत को कार्यभार सौपा गया है। वास्तव में देखा जाए तो एक ग्रामपंचायत को कार्यभार संभालने के लिए सरपंच, उपसरपंच सहित कम से कम सात से पंद्रह सदस्य आवश्यक है अब अकेले प्रशासक को ही ग्रामपंचायत को सम्पूर्ण कार्यभार संभालना होगा। किंतु औसतन एक एक प्रशासक को 4 ग्राम पंचायत की जिम्मेदारी संभालनी पड रही है जिसका कार्यो पर प्रतिकूल परिणाम पड रहा है। 

जुगनाला के पूर्व सरपंच गोपाल ठाकरे ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि इस निर्णय के कारण एक व्यक्ति के औसतन 4 ग्रामपंचायत का कार्यभार है। इसके चलते संबंधित व्यक्ति पर काम बोझ बढ रहा है। इसके प्रतिकूल परिणाम उनके कार्यो पर पड़ रहा है।