जनहित में शराबबंदी हटाना, सांसद धानोरकर ने किया पालकमंत्री का समर्थन

चंद्रपुर. जिले की शराबबंदी आगामी अक्टूबर तक हटाने के संकेत पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने पहले ही दिए हैं. अब उनके समर्थन में सांसद बालू धानोरकर आ गए हैं. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जनहित को ध्यान में रखकर ही शराबबंदी हटाने का निर्णय ले रही है. इस संदर्भ में राज्य सरकार का जो भी निर्णय होगा, उसका स्वागत ही होगा.

सांसद धानोरकर ने कहा कि जिले में शराबबंदी लागू होने के बाद शराब की अवैध बिक्री ने भीषण रूप ले लिया है. अन्य जिलों तथा राज्यों से शराब की तस्करी शुरू है. इससे सरकार का राजस्व भी डूब रहा है. शराबबंदी के बाद शराब की अवैध बिक्री दोगुनी हो गई है. इससे अपराध भी बढ़ गए हैं. जिले में शराबबंदी पूर्णत: असफल साबित हुई है.

सीमा की सुरक्षा करने में मोदी असमर्थ
केंद्र सरकार की नीतियों पर सांसद धानोरकर ने कहा कि मोदी सरकार सरकार ने चीन द्वारा कब्जा की गई भारतीय भूमि को प्राप्त करने के लिए सख्त कदम उठाने चाहिए. मोदी सरकार भारतीय सीमा की सुरक्षा करने में असमर्थ साबित हो रही है.

महंगाई के खिलाफ 29 को धरना
बढ़ती महंगाई पर सांसद धानोरकर ने कहा कि एक ओर कोरोना संकट ने लोगों को परेशान कर रखा है. देश पर संकट छाया है. उद्योग व्यवसाय डूब गए हैं. ऐसे में केंद्र सरकार पिछले 20 दिनों में पेट्रोल व डीजल के दामों में बेतहाशा वृद्धि कर रही है. जिससे लोगों का जीना मुश्किल हो रहा है. केंद्र सरकार की इस नीति के विरोध में 29 जून को जिलाधीश कार्यालय के सामने धरना आंदोलन किया जाएगा. 30 जून से 4 जुलाई तक तहसील स्तर पर धरना आंदोलन होगा. पत्रपरिषद में विधायक प्रतिभा धानोरकर, ग्रामीण जिलाध्यक्ष प्रकाश देवतले, शहर जिलाध्यक्ष रामू तिवारी, विनोद दत्तात्रय, चित्रा डांगे आदि उपस्थित थे.