Attempt of self-immolation in front of Chief Minister's residence, order of magistrate inquiry

 रायपुर. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में मुख्यमंत्री निवास के सामने युवक के आत्मदाह करने की कोशिश मामले की दंडाधिकारी (मजिस्ट्रेट) जांच कराई जाएगी। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि धमतरी जिले के तेलीनसत्ती गांव निवासी हरदेव सिन्हा के द्वारा 29 जून को राजधानी रायपुर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र में किए गए आत्महत्या के प्रयास की दंडाधिकारी जांच होगी। अधिकारियों ने बताया कि धमतरी जिले के कलेक्टर और जिला दण्डाधिकारी ने इस संबंध में प्राप्त प्रारंभिक जांच प्रतिवेदन के आधार पर दंडाधिकारी जांच का आदेश दिया है। जांच के लिए अनुविभागीय दंडाधिकारी धमतरी को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। कलेक्टर धमतरी ने जांच के लिए एक माह की समय सीमा निर्धारित की है।

उन्होंने बताया कि दंडाधिकारी जांच के लिए जो बिन्दु निर्धारित किए गए है उनमें – यह घटना क्यों और किन परिस्थितियों में हुई, घटना के पूर्व संबंधित किन-किन व्यक्तियों से मिला, घटना के पीछे किसी की उत्प्रेरणा तो नहीं थी, वह क्यों और किसके सहयोग से रायपुर आया, जबकि यात्री बसों का परिचालन बंद है। क्या आत्मदाह के प्रयास के पूर्व इसकी लिखित सूचना किसी कार्यालय को दी गई थी। यदि उसका मानसिक संतुलन ठीक नहीं था तब इलाज के प्रयास परिवार वालों ने क्यों नहीं किया। संबंधित का राशन कार्ड में नाम है कि नहीं। क्या उन्हें विगत दो माह में राशन प्रदान किया गया है कि नहीं। इसके अलावा परिस्थितिजन्य अन्य कोई बिंदु जो जांच के लिए आवश्यक होंगे को शामिल किया जाएगा। इधर इस घटना के बाद भारतीय जनता युवा मोर्चा ने राज्य सरकार पर युवा विरोधी कार्य करने का आरोप लगाया है तथा आंदोलन की चेतावनी दी है।

मोर्चा ने बयान जारी कर कहा है कि कांग्रेस सरकार ने अपने घोषणा पत्र में युवाओं को 2500 रूपए प्रोत्साहन राशि देने की बात की थी। लेकिन सत्ता में आने के बाद युवाओं को प्रोत्साहन राशि और नौकरियां देने के बजाय दैनिक वेतन भोगियों को नौकरी से निकालना, पुलिस भर्ती परीक्षा रद्द करना, सब इंस्पेक्टरों की परीक्षा, सहायक प्रोफेसर भर्ती परीक्षा नहीं कराने जैसे युवा विरोधी कार्य करने लगी। मोर्चा ने कहा है कि मुख्यमंत्री निवास के सामने आत्मदाह करने वाले युवक को राहत देने के बजाय सरकार उसे मानसिक विक्षिप्त बता रही है। रायपुर के सिविल लाईंस थानाक्षेत्र में स्थित मुख्यमंत्री निवास के सामने सोमवार को हरदेव सिन्हा (27) ने खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली थी। युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वह लगभग 50 फीसदी झुलस गया है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया है कि सिन्हा के परिवार वालों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सिन्हा पिछले दो वर्ष से मानसिक रूप से अस्वस्थ है।