motilal-vora

रायपुर. अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा (Motilal Vora) का पार्थिव शरीर मंगलवार सुबह रायपुर (Raipur) लाया गया, जहां पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। राज्य में कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेताओं ने मंगलवार को बताया कि वोरा का पार्थिव शरीर मंगलवार पूर्वाह्न 11.15 बजे विशेष विमान से रायपुर लाया गया।

इस दौरान रायपुर के स्वामी विवेकानंद विमानतल में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम, पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधायक मौजूद थे। कांग्रेस नेताओं ने बताया कि विमानतल से वोरा की पार्थिव देह को पार्टी के राज्य कार्यालय राजीव भवन ले जाया गया, जहां पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस दारौन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, उनके मंत्रिमंडल के सदस्य, वोरा के पुत्र एवं दुर्ग के विधायक अरूण वोरा तथा अन्य नेता मौजूद थे। पार्टी नेताओं ने बताया कि वोरा के पार्थिव शरीर को उनके गृह जिले दुर्ग ले जाया जा रहा है जहां के शिवनाथ मुक्तिधाम में शाम चार बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

राज्य विधानसभा में शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन वोरा को श्रद्धांजलि दी गई तथा सदन की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई। सदन की कार्यवाही प्रारंभ होने के बाद विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी ने वोरा के निधन का उल्लेख किया तथा उन्हें श्रद्धांजलि दी। सदन में मुख्यमंत्री बघेल ने वोरा को श्रद्धांजलि दी और कहा कि वोरा के निधन से राजनीति में जो स्थान रिक्त हुआ है, उसे भर पाना संभव नहीं है। विधानसभा में विपक्ष के नेता धरमलाल कौशिक, पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के विधायक धर्मजीत सिंह, राज्य के मंत्रियों और विधायकों ने भी वोरा को सदन में श्रद्धांजलि दी। मोतीलाल वोरा का सोमवार को निधन हो गया था। वह 92 वर्ष के थे।