shikhar dhawan
File Photo

    नई दिल्ली: भारत और श्रीलंका के बीच वनडे सीरीज (Sri Lanka vs India, ODI Series) का पहला मैच आज यानी 18 जुलाई को कोलंबो में खेला जाएगा। जहां भारत पूरी तैयारी के साथ मैदान में श्रीलंका को हराने के मकसद से उतरेगा। अगर हार-जीत की बात करने तो अब तक भारत और श्रीलंका के बीच 159 मैच हुए हैं, जिसमें से 91 मैच भारत के कब्ज़े में रहे हैं, जबकि श्रीलंका केवल 56 मैच ही अपने पाले में डाल पाया है। भारत के दूसरे दर्जे की यह टीम के कप्तान शिखर धवन से सबको बहुत उम्मीदें हैं। वहीं इस सीरीज में कई रिकॉर्ड बनने और टूटने भी वाले हैं। 

    शिखर धवन हैं सबसे उम्रदराज कप्तान 

    आज वनडे सीरीज के पहले मैच में कप्तान शिखर धवन कोलंबो में टॉस के लिए उतरते ही वह वनडे क्रिकेट में भारत की ओर से सबसे ज्यादा उम्र में कप्तानी डेब्यू करने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे। आज के समय में धवन की उम्र 35 साल 225 दिन है। इसी तरह वह भारत के सबसे उम्रदराज वनडे कप्तान हो जाएंगे। धवन इस मामले में दिग्गज भारतीय ऑलराउंडर मोहिंदर अमरनाथ का रिकॉर्ड तोड़ देंगे, जिन्होंने 1984 में 34 साल 37 दिन की उम्र में भारत के लिए पहली बार वनडे मैच में कप्तानी की थी। 

    कप्तान रचेंगे इतिहास

    श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में शिखर धवन (Shikhar Dhawan) कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर सकते हैं। जैसे अगर वह इस मैच में 23 रन बना पाने में सफल रहे तो वह वनडे करियर में 6000 रन पूरा कर इस मुकाम में पहुंचने वाले चौथे सबसे तेज़ बल्लेबाज बन जाएंगे। अब तक धवन ने 139 वनडे में 5977 रन बनाए हैं। साथ ही 6000 रन बनाने वाले धवन भारत के पांचवें ओपनर बल्लेबाज बन जाएंगे। सचिन, गांगुली, सहवाग और रोहित ने बतौर ओपनर वनडे में 6 हजार से ज्यादा रन बना चुके हैं। 

    चहल के पास भी मौका 

    भारत के शानदार गेंदबाज युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) के पास भी रिकॉर्ड बनाने का अच्छा मौका है। उन्होंने वनडे में अब तक 92 विकेट हासिल किए हैं। श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में चहल के पास 100 वनडे विकेट पूरा करने का मौका होगा। 

    150 विकेट से दूर नहीं भुवी

    भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) ने वनडे में अब तक 117 मैच में 138 विकेट लिए हैं। ऐसे में श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान भुवी के पास 150 वनडे विकेट पूरा करने का अच्छा मौका होगा। 150 विकेट तक पहुँचने के लिए भुवी को 12 विकेटों की दरकार है।