File Photo
File Photo

    -विनय कुमार

    अपने शानदार टेस्ट करियर के आखिरी दिन बीजे वाटलिंग (BJ Watling Wicket-keeper New Zealand) के हाथ की छोटी उंगली चोटिल हो गई, जब उन्होंने एक गेंद को लपकने डाइव मारी थी। दर्द बहुत था, लेकिन, इसके बावजूद वे ‘ICC World Test Championship Final India vs New Zealand 2021’ की खिताबी भिडंत के रिजर्व डे में विकेट-कीपिंग के लिए मैदान में उतरे। 144 साल के टेस्ट क्रिकेट के इतिहास के पहले वर्ल्ड चैंपियनशिप कप के फाइनल मुकाबले के साथ अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर को अलविदा कहने से पहले बीजे वॉटलिंग ने भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni Former Captain Indian Cricket Team) का रिकॉर्ड तोड़ दिया और खुद एक नई मिसाल कायम कर गए।

    न्यूजीलैंड के विकेटकीपर बीजे वाटलिंग का यह विदाई मैच रहा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर्स सन्यास लेने की बात की वो पहले ही घोषणा कर चुके थे। उन्होंने के दिया था कि ICC WTC फाइनल के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह देंगे। गौरतलब है कि न्यूजीलैंड की टीम बीते बुधवार यानी कल 23 जून की सुबह 35 वर्षीय बीजे वॉटलिंग की अगुआई में ही मैदान पर उतरी। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli Captain Indian Cricket Team) ने भी मैदान पर उन्हें शुभकामनाएं दीं। ‘न्यूजीलैंड क्रिकेट’ (New Zealand Cricket) के मुताबिक, “बीजे वाटलिंग (BJ Watling Wicket-keeper) के दाएं हाथ की छोटी उंगली मैच के पहले सेशन के दौरान चोटिल (injury) हो गई थी। लंच के दौरान उन्हें उपचार की जरूरत पड़ी। इसके बाद ही वे मैदान पर खेलने उतरे।”

    बीजे वाटलिंग ने इस मैच के पहले सेशन में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane Vice Captain) के कैच लपके। उन्होंने अपनी टीम के घातक तेज़ जी दबाज नील वैगनर (Neil Wagner) की गेंद पर रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) का भी कैच लिया।

    न्यूजीलैंड क्रिकेट के इतिहास के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर-बल्लेबाजों में गिने जाने वाले बीजे वाटलिंग (BJ Watling) ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में अब तक खेले 75 टेस्ट मैचों की 127 पारियां खेली और 127 बार विकेटकीपिंग के लिए मैदान में उतरे। इस करियर में उन्होंने 257 कैच लपके। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और चीते सी फुर्तीले विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने अपने टेस्ट करियर के दौरान 166 पारियों में विकेटकीपिंग और 256 कैच पकड़े।

    टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा कैच लपकने वाले विकेटकीपरों में टॉप पर हैं साउथ अफ्रीका के पूर्व विकेटकीपर मार्क बाउचर (Mark Boucher Wicket-keeper South Africa)। मार्क बाउचर ने 281 पारियों में 532 कैच पकड़े थे। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट (Adam Gilchrist Former Wicket-keeper Australia) दूसरे पायदान पर हैं। उन्होंने 191 पारियों में 379 कैच पकड़े थे। 

    इस लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर इयान हीली (Ian Hilly) के नाम 224 पारियों में 366 कैच हैं। रॉड मार्श ने 182 पारियों में 343 कैच लिए, वेस्ट इंडीज के पूर्व विकेटकीपर जैफ डुजैन ने 150 पारियों में 265 कैच और ब्रैड हैडिन ने टेस्ट मैचों की 128 पारियों में 262 कैच लपके।