kohli

    साउथम्पटन. मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) के सुर में सुर मिलाते हुए भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम का निर्धारण एक फाइनल के आधार पर नहीं बल्कि ‘बेस्ट आफ थ्री फाइनल’ (Best Of Three) के जरिये होना चाहिये।भारत ने आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ पिछड़ने के बाद वापसी करके श्रृंखला जीती लेकिन न्यूजीलैंड ने विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल में उसे आठ विकेट से हरा दिया ।

    कोहली ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,‘‘ मैं इसका पक्षधर नहीं हूं कि दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम का निर्धारण एक फाइनल मैच से हो।” उन्होंने कहा ,‘‘ अगर टेस्ट श्रृंखला है तो तीन टेस्ट से ही पता चलता है कि किस टीम में वापसी की क्षमता है । ऐसा नहीं होता कि दो दिन अच्छा खेले और फिर आप अचानक अच्छी टेस्ट टीम नहीं हैं । मैं यह नहीं मानता ।” शास्त्री ने टीम के इंग्लैंड रवाना होने से पहले ही बेस्ट आफ थ्री फाइनल की बात की थी ।

    कोहली ने कहा ,‘‘ भविष्य में इस पर विचार किया जाना चाहिये । तीन मैचों में प्रयास होते हैं, उतार चढाव होते हैं , हालात बदलते हैं । गलतियों को सुधारने का मौका मिलता है । इसके बाद पता चलता है कि सर्वश्रेष्ठ टीम कौन सी है । ” उन्होंने यह भी कहा कि न्यूजीलैंड से मिली हार उनकी टीम की दो साल की उपलब्धियों का सही चित्रण नहीं करती ।

    उन्होंने कहा ,‘‘ हम इस नतीजे से परेशान नहीं है । हमने पिछले तीन चार साल में अचदा प्रदर्शन किया है । यह मैच हमारी क्षमता और काबिलियत का सही चित्रण नहीं करता ।” व्यस्त अंतरराष्ट्रीय कैलेंडर में तीन मैचों का फाइनल आईसीसी के लिये मुश्किल होगा । कोहली ने कहा कि लोगों को याद रहना चाहिये कि यह कठिन श्रृंखला थी, महज एक फाइनल नहीं । उन्होंने कहा ,‘‘ इस पर बात होनी चाहिये । इसलिये नहीं कि हम जीत नहीं सके लेकिन टेस्ट क्रिकेट के लिये यह गाथा यादगार होनी चाहिये ।”