प्रतिकारात्मक तस्वीर
प्रतिकारात्मक तस्वीर

    नयी दिल्ली: बाहरी दिल्ली (Delhi) के मुंडका इलाके में चोरी (Robbery) के संदेह में पिता को काम से निकाल दिये जाने पर 26 वर्षीय एक व्यक्ति ने अपने चार दोस्तों के साथ मिलकर एक फैक्टरी में कथित रूप से सेंधमारी की। पुलिस ने बुधवार को बताया कि अक्षय अपने दोस्तों– विकी (23), गोविंद (21), कृष्ण (23) और धमेंद्र (39) के साथ मिलकर 20 मार्च को फैक्टरी में सेंधमारी की और अब पांचों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने इन गिरफ्तारियों के साथ ही चोरी के आठ मामलों को सुलझाने का दावा किया। 

    पुलिस उपायुक्त (बाहरी) परमिंदर सिंह ने बताया कि दरअसल अक्षय के पिता पर उनके फैक्टरी मालिक ने परिसर में हुई चोरी में शामिल होने का संदेह प्रकट किया और उन्हें काम से हटा दिया, इस अपमान का बदला लेने के लिए उसने यह अपराध किया। उसके पिता 20 साल से अधिक समय से उस फैक्टरी में काम करते थे। सिंह ने बताया कि अक्षय को फैक्टरी में जाने-आने का रास्ता पता था और उसने साजिश रचकर अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसे अंजाम तक पहुंचाया।

    पुलिस के अनुसार इलेक्ट्रोनिक उपकरणों, वाणिज्यिक एलपीजी सिलेंडरो, एल्युमिनियम बार और अन्य चीजें फैक्टरी से गायब पाने जाने के बाद मुंडका थाने में चोरी की शिकायत दर्ज करायी गयी। 

    पुलिस उपायुक्त ने कहा, ‘‘ इस घटना में शामिल एक आरोपी की पहचान विकी के रूप में हुई । जब वह चुराये गये सामानों का पीवीसी मार्केट में बेचने आया तब उसे गिरफ्तार कर लिया गया।..” पुलिस के अनुसार उससे की गयी पूछताछ के आधार पर मुख्य आरोपी अक्षय धरा गया और उसने अपना एवं अपने दोस्तों का गुनाह कबूल कर लिया। फिर बाकी आरोपी पकड़े गये। (भाषा)