A record Rs 1.10 lakh crore for Railways in the budget: Nirmala Sitharaman

    नई दिल्ली: अपने यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए उत्तर रेलवे (Northern Railway) अपने संचालित ट्रेनों की संख्या बढ़ाने वाली है। फिलहाल, लगभग 88 फीसद ट्रेनें वापिस से संचालित हो गई हैं। रेलवे के मुताबिक, आने वाले दिनों में इस संख्या में और बढ़ोतरी होगी।

    रेलवे अधिकारियों का दावा है कि ट्रेन से सफर करने में किसी तरह की दिक्कत नहीं है। साथ ही उनका कहना है कि, स्टेशनों पर सभी आवश्यक प्रबंध किए गए हैं। रेलवे अधिकारियों ने कहा कि, कई शहरों में लॉकडाउन और रात्रिकालीन कर्फ्यू लगने पर कुछ लोग स्टेशनों पर भीड़ बढ़ने की झूठी अफवाहें फैलाकर भ्रम पैदा कर रहे हैं।

    उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार ने बताया कि, “लोगों में यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि नाईट कर्फ्यू लगने के बाद दिल्ली के रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ बढ़ गई है। यह एकदम गलत और झूठ है। उनका कहना है कि स्टेशनों पर पैसेंजर्स की संख्या बिल्कुल सामान्य है। 

    कुमार ने बताया कि कोरोना संकट शुरू होने से पहले ही पिछले साल दिल्ली से 375 ट्रेनें चल रही थीं और अभी 305 ट्रेनें चल रही हैं। जिन ट्रेनों को एक्सप्रेस में तब्दील कर चलाया जा रहा है उन्हें छोड़कर अन्य सभी ट्रेनों में केवल कंफर्म आरक्षित टिकट लेकर ही यात्री सफर कर सकते हैं। प्लेटफार्म पर सिर्फ कंफर्म टिकट वालों को प्रवेश दिया जा रहा है, इस कारण से स्टेशनों पर भीड़ बढ़ नहीं सकती है।