exam
File Pic

    कटक (ओडिशा). ओडिशा में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (BSE) द्वारा इस साल 10वीं (Class 10th Board Exams) कक्षा की परीक्षा में शामिल होने के लिए 15,151 छात्रों ने आवेदन-पत्र भरा है। यह परीक्षा ऑफलाइन (Offline) होगी। बीएसई द्वारा बृहस्पतिवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि ऑफलाइन परीक्षा 30 जुलाई से शुरू होगी और उत्तर पुस्तिकाओं की जांच छह अगस्त से शुरू होगी।

    राज्य सरकार ने महामारी के मद्देनजर इस साल की मैट्रिक परीक्षा को रद्द कर दिया था और इसी के अनुरूप बीएसई ने पिछले महीने घोषणा की थी कि फॉर्म भरने वाले लगभग 98 प्रतिशत छात्रों ने वैकल्पिक पद्धति के आधार पर विभिन्न ग्रेड में परीक्षा उत्तीर्ण की। इसमें मूल्यांकन के साथ-साथ स्कूल में उनके पिछले प्रदर्शन को भी शामिल किया गया है।

    हालांकि, राज्य भर के कई छात्रों विशेष रूप से निजी स्कूलों के छात्रों ने आरोप लगाया कि उन्हें उनके मानक और अपेक्षाओं से कम अंक दिए गए हैं। मूल्यांकन के विवादास्पद तरीके पर सवाल उठाते हुए कई छात्रों ने बीएसई की भूमिका की आलोचना की और राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन किया। आरोप है कि बीएसई ने अपने संबंधित स्कूल के शिक्षकों द्वारा जमा किए गए कुछ छात्रों के अंकों के साथ छेड़छाड़ की।

    चौतरफा आलोचनाओं के बाद बीएसई ने असंतुष्ट छात्रों के लिए ऑफलाइन परीक्षा आयोजित करने की घोषणा की, जिसमें छात्रों को परीक्षा केंद्रों पर उपस्थित होना होगा और परीक्षा की तैयारी एवं परीक्षा देने के लिए सिर्फ चार सप्ताह का समय दिया गया। बोर्ड ने यह भी निर्णय लिया है कि ऑफलाइन परीक्षा में छात्रों द्वारा प्राप्त अंक अंतिम होंगे।