वनविभाग के शिकंजे में फंसे 4 शिकारी, 6 की तलाश जारी

  • बामणी वनपरिक्षेत्र की घटना

गडचिरोली. बाघ की हलचलों पर नजर रखने के लिए वन विभाग का दस्ता जंगलों में गश्त पर था। इस दौरान जंगली जानवरों के शिकार के इरादे से संदिग्ध रूप से घुमनेवाले 10 शिकारियों में से 4 शिकारियों को वनविभाग के गश्ती दल ने सामान के साथ गिरफ्तार किया है जबकि 6 फरार आरोपियों की तलाश कर रहे है। यह कार्रवाई 20 नवंबर को बामनी वनपरिक्षेत्र अंतर्गत आनेवाले रोमपल्ली जंगल के आरक्षित वनखंड क्र. एसए 047 में घटी। गिरफ्तार आरोपियों के नाम मेंगा बंडे मडे, बंडे फकीरा मडे, मल्ला जोगा गावडे व गिरावली वेलादी है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार बामनी वनपरिक्षेत्र में बाघ का विचरण होने की जानकारी मिलते ही वनपरिक्षेत्र के वनाधिकारी किशोर गौरकार, क्षेत्र सहायक बोरकर, वनरक्षक पी. बी. महाडोरे, वनरक्षक पी. आर. पाटील, वनरक्षक एस. जी. बोंडे, वनरक्षक एम. तलांडी यह बाघ के हलचलों को देखने के लिए रोमपल्ली जंगल के आरक्षित वनखंड क्र. एसए 047 में गश्त कर रहे थे किंतु कुछ संदिग्ध लोग दिखाई दिये। वन अधिकारियों ने चेतावनी दी तो उन्हे रुकने को कहा किंतु भागने लगे तो वनकर्मचारियों ने उन्हे मेंगा मडे, बंडे मडे, मल्ला गावडे व गिरावली वेलादी को धर दबोचा अन्य 6 आरोपी फरार हे गये। जांच के दौरान उनके पास से फंदा, कुल्हाडी, छूरी, चावल, ब्लैंकेंट व अन्य साहित्य बरामद हुआ है। हुए. जिससे वनाधिकारियों ने उन चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर उन्हे अहेरी के न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने उन्हे 24 नवंबर तक वनहिरासत सुनाई है। 

फरार हुए 6 आरोपियों का वनाधिकारी खोज कर रहे है। मामले की जांच सहाय्यक वनसंरक्षक एस. जी. बडेकर के मार्गदर्शन में वनपरिक्षेत्र अधिकारी किशोर गौरकार कर रहे है।