72 गांव के ग्रामीणों की बिजली कार्यालय पर दस्तक – बिजली समस्या हल करने की मांग

  • तीव्र आंदोलन की दी चेतावनी

गडचिरोली. तहसील के अतिपिछडे कसनसूर व वेनहारा परिसर के करीब 72 गांव में बिजली की समस्या कायम है. मात्र बिजली विभाग की इन समस्याओं की ओर अनदेखी होने से त्रस्त ग्रामीणों ने सोमवार 26 अक्टूबर को एटापल्ली के बिजली विभाग के कार्यालय पर दुपहिया मोर्चा निकालकर दस्तक दी. इस समय अभियंता के माध्यम से जिला मुख्य अभियंता को मांगो का ज्ञापन पेश किया गया. आगामी 15 दिनों में बिजली समस्या हल न करने पर आंदोलन तिव्र करने की चेतावनी इस समय दी गई है. 

कसनसूर में 33 केवी बिजली उपकेंद्र मंजूर करे, दोबेगुडा में बंद हुआ बिजली ट्रान्सफार्मर शुरू करे, एटावाही का ट्रान्सफार्मर बदले, तहसील के जनता का कोरोना कालावधि का बिजली बील माफ करे, कोकोडी, रेगडीगट्टा, कोसआलेंगा में तत्काल बिजली आपूर्ति शुरू करे, जवेली कुंडूम में विगत 1 वर्ष से बंद पडी बिजली आपूर्ति सुचारू करे, एटापल्ली तहसील के 197 गांवों का बिजली कनेक्शन हुआ है, ऐसी बात कहीं जा रही है. मात्र 38 गांवों में बिजली आपूर्ति अबतक शुरू नहीं की गई. वह शुरू करे, आदि मांगों का ज्ञापन में समावेश है. आंदोलन में सुधाकर गोटा, अंडवेजी कांदो, उलगेजी तिम्मा, प्रज्वल नागुलवार, सुनील मडावी, मैनू लेकामी, लालसू नरोटे, संजय कोरसा, सुरेश मट्टामी, गोसू कोरसा, मनोज तिम्मा, बिरजू तिम्मा, चौतू गोटा, मनोज कोरामी, दर्जु हिचामी, साईनाथ उसेंडी, भाऊजी पदा, अजय कुलवेटी, सोनू पोटावी इनके साथ 72 गांव के ग्रामीण उपस्थित थे.