Mumbai Corona: Mumbai reports 53 deaths and 8839 cases in the past 24 hours on Friday
File

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना (Corona) के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में राज्य में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की कमी को लेकर भी राजनीति गरमा गई है। इस बीच मुंबई (Mumbai) में रोज़ाना बढ़ रहे कोरोना मामलों में गुरुवार को कुछ कमी आई है। लगतार बेकाबू होते कोरोना वायरस के चलते मुंबई में बढ़ते कोरोना ग्राफ गुरुवार को कुछ हद तक निचे आया है। मुंबई में पिछले 24 घंटों में 8,938 कोरोना मामले सामने आए हैं जो मंगलवार और बुधवार के मुकाबले कम हैं। बुधवार को मुंबई में पिछले 24 घंटों में 10,428 मामले सामने आए थे। इस खतरनाक वायरस से शहर में पिछले 24 घंटों में 23 लोगों को मौत हुई है। बीएमसी के आंकड़ों के मुताबिक, शहर में 4,503 कोरोना पेशंट ठीक हुए हैं। 

    वैसे कोरोना महामारी की शुरुआत होने के बाद से ये पहली बार है जब मुंबई में हर रोज़ रिकॉर्ड कोरोना मामले सामने आ रहे हैं। इसी के चलते शहर में कड़े नियम लागू कर दिए गए हैं। फिलहाल मुंबई सहित महाराष्ट्र के ज़्यादातर इलाकों में नाइट कर्फ्यू और कड़े कोरोना नियम लगा दिए गए हैं। मुंबई में कई मार्केटों में दूकान भी बंद हैं।

    ऐसे में महाराष्ट्र में वैक्सीन की कमी की खबर है, जिसके बाद से केंद्र और राज्य के नेताओं की तरफ से बयानबाजी हो रही है। मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई प्रमुख शहरों में कोरोना की वैक्सीन की किल्लत है। जिन जगहों पर वैक्सीन की कमी है उनमें, सतारा, पनवेल, सांगली भी शामिल हैं। इसकी के साथ खबर है कि, मुंबई में कुल 26 वैक्सीनेशन सेंटर बंद कर दिए गए हैं इससे देश में चली रही वैक्सीनेशन ड्राइव की गति पर भारी असर पढ़ सकता है।

    एक रिपोर्ट के मुताबिक, जिन 26 सेंटरों को बंद किया गया है उनमें से 23 वैक्सीनेशन सेंटर नवी मुंबई में हैं। बताया जा रहा है कि, मामले की गंभीरता को देखते हुए एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने केंद्रीय स्वास्थ मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से बातचीत की है। इस मामले में राज्य को केंद्र से जल्द सहायत मिलने की उम्मीद है।