imarti-devi

भोपाल. जहाँ एक तरफ बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhansabha Elections) में राजनीति अपने चरम पर है। वहीं मध्यप्रदेश में भी आने वाले उपचुनाव की राजनीति में एक अलग ही बयानों के वार हो रहे हैं। जिसमे मर्यादा को जैसे ताक पर ही रख दिया है। कुछ दिन पहले जहाँ कमलनाथ (Kamalnath) का ‘आइटम’ बोलना उन्हें अब तक महंगा पड़ रहा है। वहीं अब उनके बयान को आपत्तिजनक बताने वाली मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) ने अब खुद विवादित बयान दे दिया है।

दरअसल मध्य प्रदेश के पूर्व CM कमलनाथ और इमरती देवी में ‘आइटम’ को लेकर छिड़ी बहस बाजी, अब गाली-गलौज में उतर आई है। वैसे तो पूर्व CM द्वारा ‘आइटम’ बोले जाने के बाद इमरती देवी के साथ-साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, ज्योतिरादित्य सिंधिया और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कई नेता पहले ही कमलनाथ पर अपनी पूरी भड़ास निकाल चुके हैं। लेकिन इन सबके मध्य बीते शुक्रवार को शिवराज सरकार में मंत्री और डबरा विधानसभा से BJP प्रत्याशी इमरती देवी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ को शराबी और लुच्चा लफंगा तक कहा।

इमारती देवी ने भी अपनी भाषाई मर्यादा को ताक में रखते हुए कहा कि, “कमलनाथ की हालत उस शराबी कबाड़ी की तरह हो गयी है जिसके सामने से अगर कोई महिला निकलती है तो वह ‘शराबी कबाड़ी’, महिला पर अभद्र टिप्पणी करने लगता है कि देखो क्या ‘आइटम’ जा रहा है, ऐसे ही लुच्चे लफंगे अब कमलनाथ भी बन कर रह गए हैं।”

 गौरतलब है कि इमरती देवी शुक्रवार को डबरा के शांति गार्डन में आयोजित बीजेपी के युवा सम्मेलन में जनता को संबोधित कर रही थीं। वहां उन्होंने यह भी कहा कि, “मेरे ससुर, सास, ननद, देवरानी, जेठानी और बेटों के सामने कमलनाथ ने ऐसी भाषा बोली है, मैं आपके परिवार की महिला हूं और अगर 3 तारीख को आपने मेरी लाज नहीं रखी तो आप जानो और आपका काम जाने।” यही नहीं इमारती देर्वी का यह भी कहना था कि, “कमलनाथ को शर्म नहीं आई भगवती के दिन चल रहे थे, जिसमें ऐसी भाषा उन्होंने बोली, देख लेना अब भविष्य में कभी प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं आएगी।”

क्या कहा था कमलनाथ ने: 

गौरतलब है कि बीते रविवार को डबरा विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के प्रचार के लिए पहुंचे कमलनाथ ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि, “सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे साधे हैं।हमारा उम्मीदवार उसके जैसा नहीं है … उसका नाम क्या है? (लोग इमरती देवी, जो पूर्व राज्य मंत्री हैं चिल्लाते हैं) आप उन्हें बेहतर जानते हैं और मुझे पहले ही चेतावनी देनी चाहिए। यह क्या आइटम है।” वहीं कांग्रेस अन्य नेता अरुण सिंह ने उन्हें जलेबी कह कर भी संबोधित किया था।  

अब आगे कांग्रेस की सरकार बने या नहीं बने यह तो वक़्त ही बताएगा लेकिन इतना तो तय है कि राजनीति और राजनेताओं की मर्यादा अब धीरे-धीरे लुप्त सी हो रही है। अब देखना यह है कि इमरती देवी के इस कथन पर ‘कमलनाथ’ या फिर कांग्रेस का क्या जवाब आता है। वैसे भी इस मुद्दे पर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अपनी नाराजगी जता चुके हैं।