India MAP, Twitter

    नई दिल्ली. सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) संबंधी नए नियमों के अनुपालन को लेकर भारत सरकार के साथ जारी गतिरोध के बीच ट्विटर ने अपनी वेबसाइट पर भारत का गलत नक्शा दिखाने के बाद अब उसे हटा दिया है। ट्विटर ने अपनी वेबसाइट पर जारी किए गए मैप में लद्दाख और जम्मू कश्मीर को अलग देश के तौर पर दिखाया था। ट्विटर की इस हरकत के बाद देशवासियों ने कड़ा विरोध जताया और माइक्रोब्लॉगिंग मंच के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी। वहीं सरकार ने कड़ा रुख अपनाते हुए कार्रवाई के लिए तथ्य जुटाने का आदेश दिया था। हालांकि विवाद बढ़ने के बाद ट्विटर ने उस विवादित नक्शे को हटा दिया।

    गलत नक्शा दिखाना भारत की संप्रभुता का उल्लंघन था, जिस पर सरकार की तरफ से कड़ा ऐतराज जताया गया था। इससे पहले, ट्विटर की तरफ से जो ट्वीट किया गया है उसमें जो तस्वीरें छापी गई हैं, उसमें भारत के नक्शे को अलग उभारा गया था। इसके अलावा कई और देशों के नक्शों को भी उभारा गया, लेकिन उनमें किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की गई थी। लेकिन भारत के नक्शे के साथ छेड़छाड़ की गयी थी। जिसमें जम्मू कश्मीर और लद्दाख को अलग देश के तौर पर दिखाया गया था।

    उल्लेखनीय है कि ट्विटर की वेबसाइट पर एक करियर नाम का पेज है और उसी में उसने यह बताया है कि उसके ऑफिसर्स कहां-कहां पर हैं। भारत में तीन जगह दर्शाई गई हैं- दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू और उसी में यह गलत नक्शा दिखाया गया।

    यह पहला मौका नहीं है जब ट्विटर ने भारत के नक्शे को गलत तरीके से पेश किया है। इससे पहले उसने लेह को चीन का हिस्सा दर्शाया था।

    गौरतलब है कि नए सोशल मीडिया नियमों को लेकर डिजिटल क्षेत्र की दिग्गज अमेरिकी कंपनी का भारत सरकार के साथ टकराव चल रहा है। भारत सरकार ने देश के नए आईटी नियमों की जानबूझ कर अनदेखी और कई बार कहे जाने के बावजूद नियमों के अनुपालन में नाकामी को लेकर उसकी आलोचना की है।

    नए नियमों के तहत इस माइक्रोब्लॉगिंग मंच को मध्यस्थ के तौर पर मिली कानूनी राहत समाप्त हो गई है और ऐसे में वह उपयोगकर्ता द्वारा डाली गई किसी भी गैरकानूनी पोस्ट के लिये उत्तरदायी होगा। (एजेंसी इनपुट के साथ)