किसानों ने आंदोलन किया तेज, कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर मनाई लोहड़ी

नई दिल्ली: कृषि कानूनों (Agriculture Bill) का विरोध कर रहे किसान संगठनों (Farmer Organizations) ने आज तीनों कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर लोहड़ी (Lohari Festival) का उत्सव मनाया। पहले से ऐलान किए गए कार्यक्रम के अनुसार किसान संगठनों ने सिंघु (Singhu), टिकरी (Tikri) और गाजीपुर बॉर्डर (Gajipur Border) पर एक लाख से ज्यादा कृषि कानूनों की प्रतियां को आग के हवाले कर दिया। इस दौरान सरकार के विरोध में नारे बाजी भी की। 
 

जल्द चढ़ेंगे हमारे गुस्से की भेंट 

कृषि कानूनों की प्रतियां जलाने के बाद क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष दर्शनपाल सिंह ने कहा, “हमने 3 क़ानूनों की प्रतियां जलाकर सरकार को संदेश दिया है कि इसी तरह ये बिल एक दिन हमारे गुस्से की भेंट चड़ेंगे और सरकार को क़ानून वापस लेने पड़ेंगे। 18 तारीख को महिलाएं पूरे देश में बाज़ारों में, SDM दफ़्तरों, जिला मुख्यालयों में विरोध प्रदर्शन करेंगी।”
 

हम दिल्ली में  दौड़ाएंगे ट्रैक्टर

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता  राकेश टिकैत ने कहा, “आंदोलन में कोई देश विरोधी बातें कर रहा है तो सरकार उसे गिरफ़्तार करे। कृषि क़ानून कैसे ख़त्म हो सरकार इस पर काम करे। सरकार ने 10 साल पुराने ट्रैक्टर पर बैन लगाया है तो हम 10 साल पुराने ट्रैक्टर को दिल्ली की सड़कों पर चला कर दिखाएंगे।”