Arvind Kejriwal government's house-to-house ration scheme stopped before its start, AAP alleges Central government does not want to end ration mafia

    नई दिल्ली: केंद्र सरकार (Central Government) और दिल्ली सरकार (Delhi Government) के बीच एक बार फिर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू होता दिखाई दे रहा है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की सरकार ने कहा है कि, केंद्र सरकार ने उनकी घर-घर राशन योजना (Doorstep Delivery of Ration Scheme) पर रोक लगा दी है। मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना (Mukhya Mantri Ghar Ghar Ration Yojana) 25 मार्च को लॉन्च होनी वाली थी।

    केंद्र के इस स्कीम पर रोक लगाने की जानकारी अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने ट्वीट कर दी। आप ने ट्विटर पर लिखा, “केंद्र ने घर-घर राशन योजना पर रोक लगा दी है। केजरीवाल सरकार की मुख्या मंत्री घर-घर राशन योजना 25 मार्च 2021 को लॉन्च की जानी थी। आखिर मोदी सरकार राशन माफियाओं को ख़त्म करने के खिलाफ क्यों है?”

    एक रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली सरकार ने कहा है कि, केंद्र सरकार ने कहा है कि वे राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत राज्यों को राशन मुहैया कराते हैं इसलिए इसमें कोई बदलवा नहीं किया जाना चाहिए। रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि, केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार के खाद्य आपूर्ति सचिव को पत्र लिखा है और केजरीवाल सरकार की योजना को शुरू न करने की अपील की है।

    वैसे केजरीवाल सरकार इस योजना के बारे में दावा किया गया था कि, इस स्कीम के तहत घर-घर राशन डिलीवरी की व्यवस्था अगर शुरू होती है तो दिल्ली में राशन की कालाबाजारी रोकने ख़त्म करने में बड़ी मदद मिल सकेगी।