देश में कोरोना की तीसरी लहर नजदीक, IMA ने सरकार को अलर्ट करते हुए कहा-कुछ दिन धार्मिक यात्राओं और टूरिज्म पर लगे रोक

    नई दिल्ली: भारत में कोरोना (Coronavirus Pandemic) का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है। हालांकि कोविड (COVID-19) की रफ्तार धीमी जरूर पड़ी है। इसी बीच आईएमए (IMA) ने कोरोना की तीसरी लहर (Corona 3rd Wave) के खतरे को देखते हुए पर्यटन स्थलों को खोले जाने पर चिंता जताई है। वैसे देश में मामले कम भले ही हुए हैं लेकिन एक्सपर्ट्स बार-बार कह रहे हैं कि लापरवाही के परिणाम घातक हो सकते हैं। 

    ज्ञात हो कि इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने केंद्र की मोदी सरकार और राज्य सरकारों से कम से कम तीन महीने के लिए कोविड नियमों का सख्ती से पालन कराने के लिए कहा है। आईएमए ने एक पत्र केंद्र और राज्यों को भेजा है। जिसमें कहा गया है कि पर्यटक, तीर्थ यात्रा, धार्मिक उत्साह सभी की आवश्कता है लेकिन इसके लिए कुछ महीने का इंतजार लोग कर सकते हैं। 

    गौर हो कि आईएमए के डॉ जेए जयलाल और महासचिव डॉ जयेश लेले ने यह पत्र राज्यों और केंद्र सरकार को लिखा है। जिसमें इन लोगों ने कहा कि देश कोरोना तांडव से बाहर जरूर निकल रहा है, लेकिन कोविड का खतरा अभी तक पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। साथ ही तीसरी लहर भी जल्द आने वाली है। 

    वहीं देश में कोरोना टीकाकरण की गति तेज करने की जरूरत है। कोरोना गाइडलाइन्स का पालन कर इसके प्रभाव को कम किया जा सकता है। चिट्ठी में कहा गया है कि तीसरी लहर की संभावना के बीच यह बहुत दुख की बात है कि सरकार और जनता दोनों गंभीर नहीं हैं और जगह-जगह भीड़ लग रही है।