…तो एक कोरोना मरीज 30 दिनों में 406 लोगों को संक्रमित कर सकता है : स्वास्थ मंत्रालय

नई दिल्ली. देश में कोरोनावायरस से हालात बिगड़तेनजर आ रहे है। देश मेंहररोज5से ज्यादा लोगों कीमौत हो रही है। जबकि कई लोग इस वायरस से संक्रमित हो रहे है। इस

नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस से हालात बिगड़ते नजर आ रहे है। देश में हर रोज 5 से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है। जबकि कई लोग इस वायरस से संक्रमित हो रहे है। इस वायरस से निपटने के लिए देश के डॉक्टर्स, पुलिस और सरकार काफी प्रयास कर रही है लेकिन कोरोना वायरस अपना आतंक फैलाते ही जा रहा है।

एक अध्ययन में पता चला है कि अगर एक कोरोना संक्रमित मरीज सोशल डिस्टेंन्सिंग का पालन नहीं करता तो वह 30 दिनों में करीब 406 लोगों को संक्रमित कर सकता है। इस बात कि जानकारी मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने एक आयोजित संवाददाता सम्मेलन में दी है। 

अग्रवाल ने बताया कि, अगर एक कोरोना संक्रमित मरीज लॉकडाउन का पालन नहीं करता है तो वह 30 दिनों में करीब 406 लोगों संक्रमित कर सकता है। उन्होंने कहा कि, अगर सोशल डिस्टन्स और लॉकडाउन को 75% तक भी कम कर दिया जाता है, तो वह सिर्फ 2.5 लोगों को संक्रमित कर सकेगा। 

अब तक 1,07,006 लोगों की कोरोना जांच   
संवाददाता सम्मेलन में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के रमन आर. गंगाखेड़कर ने बताया कि, देश में अब तक 1,07,006 लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है। जिसमें से सोमवार को 11,795 लोगों की जांच की गई। इसमें से 2,530 कोरोना जांच प्राइवेट लैब्स की गई है। उन्होंने बताया कि, वर्तमान में 136 सरकारी प्रयोगशालाएं काम कर रही हैं। इसके अलावा 59 निजी प्रयोगशालाओं को अनुमति दी गई है।

अब तक 124 लोगों की मौत 
जानकारी के लिए बता दें कि, भारत में कोरोना वायरस के 4,789 मामले सामने आए है। जिसमें से 353 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए है। जिसके बाद उन्हें घर के लिए छुट्टी दे दी गई। इसके अलावा अब तक 124 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो गई है।