bawal over killing of saints in Palghar

नयी दिल्ली. लोकसभा में भाजपा की एक सदस्य ने पालघर में अप्रैल में दो साधुओं और उनके चालक की भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या किये जाने की घटना के पीछे षड्यंत्र होने का आरोप लगाते हुए सीबीआई तथा एनआईए जैसी एजेंसियों से इसकी जांच कराने की मांग की।

भाजपा की साध्वी प्रज्ञा सिंह ने शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए कहा कि पता लगाया जाना चाहिए कि वहां कोरोना वायरस महामारी के समय में भीड़ क्यों एकत्रित थी और निर्दोष साधुओं को क्यों मार दिया गया।

उन्होंने आरोप लगाया कि जिस जगह उक्त घटना घटी, उस क्षेत्र में माकपा के लोगों का दबदबा है और पहले भी इस तरह की घटनाएं सामने आई हैं।

उन्होंने सीबीआई और एनआईए जैसी एजेंसियों से घटना की जांच कराने की मांग की। शून्यकाल में ही ओडिशा से भाजपा की सदस्य अपराजिता सारंगी ने कहा कि राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट के अनुसार महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले में राज्य तीसरे स्थान पर आता है।

उन्होंने दावा किया कि ओडिशा में महिला आश्रय केंद्रों में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं। सारंगी ने इस मामले में केंद्र सरकार से राज्य से बात करके समाधान निकालने की मांग की। (एजेंसी)