Rao said: Top Congress leaders are not interested in the interest of the army

चेन्नई. भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव पी मुरलीधर राव ने भारत-चीन तनाव के मुद्दे पर केन्द्र की आलोचना के लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए रविवार को कहा कि कांग्रेस नेताओं की रुचि राजनीति में है न कि सेना के हित में। उन्होंने एमके स्टालिन नीत द्रमुक पार्टी से पूछा कि आखिर वह कांग्रेस से क्यों जुड़ी हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला साल पूरा होने के मौके पर तमिलनाडु भाजपा इकाई की आयोजित डिजिटल रैली को संबोधित करते हुए राव ने कहा कि भारत ने 1962 में चीन के साथ और 1965 और 1971 में पाकिस्तान के साथ लड़ाई लड़ी थी और तब कांग्रेस सत्ता में थी।

उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने उस समय की सरकार का समर्थन किया था। राव ने आरोप लगाया, ‘‘अब जब हमारे सैनिक सीमा पर लड़ रहे हैं तब कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी, सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी की रुचि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की कुर्सी पर है जिसकी ओर वे देख रहे हैं।” उन्होंने कहा, ‘‘ … उनकी रुचि राजनीति और सत्ता में है न कि सेना के हित और राष्ट्र हित में।” राव ने राजीव गांधी फांउडेशन के लिए चीन से चंदा लेने के मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर हमला किया।

उन्होंने कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने से पहले भारत के भ्रष्टाचार और घोटाले की हर जगह चर्चा होती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। देश कारोबार सुगमता में 162वीं रैंक से 43वीं रैंक पर आ गया है। उन्होंने यह जानना चाहा कि सीमा पर जारी तनाव के मुद्दे पर केंद्र का समर्थन करने वाली द्रमुक पार्टी कांग्रेस से क्यों जुड़ी हुई है। राव ने कहा, ‘‘आप उनकी पार्टी से क्यों जुड़े हुए हैं? मैं स्टालिन (केंद्र का समर्थन करने के लिए) के फैसले की प्रशंसा करता हूं। लेकिन राहुल के साथ क्या हो रहा है? राजीव गांधी फांउडेशन के लिए चीन से पैसा लेने पर क्या आपको आलोचना नहीं करनी चाहिए, इसकी निंदा करें, इससे खुद को अलग करें।”(एजेंसी)