usha-thakur

इंदौर. एक तरफ मध्यप्रदेश में कमलनाथ के ‘आइटम’ शब्द प्रयोग करने से वैसे ही भूचाल आया हुआ है। वहीं दूसरी तरफ शिवराज सरकार में मंत्री ऊषा ठाकुर ने भी एक विवादित बयान दे दिया है। दरअसल इंदौर में बीते मंगलवार को ऊषा ठाकुर ने एक बयान में कहा कि मदरसों में सभी आतंकी ही  पैदा होते हैं और इन्ही मदरसों ने जम्मू-कश्मीर को एक आतंकवादी कारखाने में बदल दिया था।

क्या कहा ऊषा ठाकुर ने :

दरअसल शिवराज सरकार में मंत्री ऊषा ठाकुर ने इंदौर में एक बयान देते हुए कहा कि सभी मदरसों में आतंकी पैदा होते हैं। उनका यह भी कहना था कि इन सब मदरसों ने ही  जम्मू-कश्मीर को एक आतंकवादी कारखाने में बदल कर रख दिया था। यह लोग राष्ट्रवाद का पालन नहीं कर पाते हैं और इनका मौजूदा शिक्षा प्रणाली में विलय होना ही चाहिए। इतना ही नहीं उन्होंने सरकार से यह अपील भी की, कि सरकारी खर्च पर चलने वाले इन सब मदरसों को बंद कर दिया जाए। इसके साथ ही उनका यह भी कहना था कि वक्फ बोर्ड अपने आप में ही एक बड़ी मजबूत संस्था है इसलिए अब इसकी शासकीय मदद को बंद की जानी चाहिए। 

इसके साथ ही ऊषा ठाकुर का कहना था कि सारे विद्यार्थी एक समान ही होते हैं। वैसे भी धर्म आधारित शिक्षा से कट्टरता ही पनप रही है और समाज में विद्वेष का भाव भयंकर रूप से फैल रहा है। अब समय आ गया है कि मदरसों की शासकीय मदद भी बंद की जाये। हाँ, यदि कोई निजी तौर पर धार्मिक संस्कार देना चाहता है तो हमारे संविधान उसके लिए छूट दी गयी है।  

कमलनाथ पर भी कसा तंज:

इसके साथ ही उन्होंने पूर्व CM कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि, “जिस प्रकार 15 महीने की इनकी झूठ की सरकार रही, मंदिरों पर जबरदस्ती 10 % का टैक्स लगाया गया और दूसरी तरफ सरकारी खजाने से मौलवियों और इमाम को 5 हजार रुपया दिया गया, उसका जवाब जनता निश्चित रूप से  3 नवंबर को दे देगी।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ (Kamalnath) ने शिवराज सरकार में मंत्री और डाबरा विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी इमारती देवी (Imarti Devi)  पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए उन्हें ‘आइटम’ कह दिया था। जिसपर पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj singh Chaauhan) ने कहा था कि यह, कांग्रेस की ‘सामंतवादी सोच’ को दर्शाती है।