Foreign Minister S Jaishankar to join G7 virtually after exposure to possible Covid positive cases

नई दिल्ली: लद्दाख के गलवान वैली में हुई झड़प को लेकर विदेशमंत्री मंत्री एस. जयशंकर ने चीन के अपने समकक्ष वांग यी के साथ फ़ोन कर बात की. इस दौरान उन्हें चीन सरकार कोकड़ा संदेश देते हुए विदेश मंत्री ने कहा, ” गलवान में जो हुआ वह चीन द्वारा पूर्व नियोजित और नियोजित कार्रवाई थी जो घटनाओं के अनुक्रम के लिए जिम्मेदार था.”

संबंधो पर पड़ेगा गहरा असर 
एस जयशंकर ने रेखांकित करते हुए कहा,’ इस इस घटना का द्विपक्षीय संबंधों पर गंभीर प्रभाव पड़ेगा। समय की आवश्यकता चीनी पक्ष को अपने कार्यों को फिर से करने और सुधारात्मक कदम उठाने के लिए थी. उन्होंने कहा, चीनी पक्ष को अपने कार्यों के बारे में आश्वस्त करने और सुधारात्मक कदम उठाने के लिए समय की आवश्यकता थी.’

नियंत्रण रेखा पर एक तरफ़ा कार्यवाही नहीं होना चाहिए 
विदेश मंत्री ने कहा, ‘ वरिष्ठ कमांडरों द्वारा 6 जून को पहुंची समझ को ईमानदारी से लागू करना चाहिए। दोनों पक्षों के सैनिकों को भी द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए। उन्हें LAC का कड़ाई से सम्मान करना चाहिए और उसका पालन करना चाहिए और इसे बदलने के लिए कोई एकतरफा कार्रवाई नहीं करनी चाहिए।’

6 जून को हुआ समझौता का करेंगे पालन
विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘अंत में, यह सहमति व्यक्त की गई कि समग्र स्थिति को जिम्मेदार तरीके से संभाला जाएगा और दोनों पक्ष 6 जून की विघटनकारी समझ को ईमानदारी से लागू करेंगेदोनों पक्ष द्विपक्षीय समझौते और प्रोटोकॉल के अनुसार मामलों को आगे बढ़ाने और शांति सुनिश्चित करने के लिए कोई कार्रवाई नहीं करेंगे.’