मनीष तिवारी का UPA सरकार पर बड़ा हमला, लिखा-मुंबई अटैक के बाद PAK पर एक्शन नहीं लेना कमजोरी की निशानी

    नई दिल्ली: कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी (Manish Tewari on 26/11) ने अपनी किताब में 26/11 मुंबई (Mumbai Attack) हमले के बाद एक्शन न होने को लेकर यूपीए सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने अपनी किताब में कहा कि मुंबई आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए थी। तिवारी ने कहा कि हमले के बाद  कार्रवाई न करना कमजोरी की निशानी है। 

    ज्ञात हो कि पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने मुंबई हमले का जिक्र करते हुए अपनी किताब में लिखा कि पाकिस्तान को अगर बेगुनाह लोगों के कत्लेआम करने का कोई खेद नहीं तो संयम ताकत की पहचान नहीं है। मनीष तिवारी ने 26/11 मुंबई हमले को लेकर तत्कालीन मनमोहन सरकार पर हमला बोलते हुए यह बातें अपनी आने वाली किताब में कही है। 

    मनीष तिवारी ने अपनी किताब में कहा कि मुंबई हमला एक ऐसा अवसर था जब शब्दों की बजाय जवाबी एक्शन करना चाहिए था। कांग्रेस नेता ने मुंबई अटैक की तुलना अमेरिका के 9/11 से भी की है। वैसे यह कोई पहला मौका नहीं है जब मनीष तिवारी ने अपनी पार्टी को घेरा है। इससे पहले उन्होंने पंजाब में सियासी अस्थिरता को लेकर नेताओं को आड़े हाथ लिया था। साथ ही उन्होंने कांग्रेस में कन्हैया कुमार की एंट्री पर भी सवाल खड़ा किया था।