Maharashtra ACB's action against corruption, case registered against sub-divisional magistrate in bribery case, revenue officer arrested

जलगांव. जिले में रिश्वतखोरी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. शनिवार को एक बार फिर एमआईडीसी पुलिस (MIDC Police) स्टेशन में कार्यरत सहायक पुलिस इंस्पेक्टर को 15 हजार की रिश्वत लेते हुए नासिक एंटी करप्शन ब्यूरो (Nashik Anti Corruption Bureau) ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। इस वारदात से जलगांव पुलिस की प्रतिष्ठा को दाग लगा है।

दो दिन पहले ही दो लाख रुपये की घूस लेने के आरोप में बोदवड तहसीलदार समेत राजस्व विभाग के दो कर्मियों को जलगांव एसीबी ने गिरफ्तार किया था, उनकी पुलिस कस्टडी खत्म भी नहीं हुई थी कि शनिवार को एमआईडीसी थाना में कार्यरत सहायक इंस्पेकटर संदीप हजारे ने एक मामले में सहयोग करने शिकायतकर्ता से 15 हजार रुपये की मांग की थी। शिकायत पर नाशिक ब्यूरो ने कार्यवाही कर हजारे को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। उम्मीद जताई जा रही है कि अब  घूसखोर कर्मियों के अंदर दहशत का माहौल निर्माण होगा। इस कार्रवाई को सफलतापूर्वक नाशिक एसीबी पुलिस निरीक्षक उज्ज्वल पाटिल, पुलिस नायक किरण रासकर ने अंजाम दिया है।