प्रशासन की उदासीनता से गंदगी का अंबार

मूलभूत सुविधाओं के लिए  तरस रहे लोग

विधायक महाजन के निर्वाचन क्षेत्र का बुरा हाल

जामनेर/जलगांव. प्रशासन की उदासीनता के चलते विधायक गिरीश महाजन के निर्वाचन क्षेत्र में नागरिक मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं. स्थानीय ग्राम पंचायत प्रशासन को ज्ञापन सौंपने के बावजूद हालात जस के तस बने हुए हैं. वैश्विक महामारी कोरोना ने जलगांव जिले में तांडव बरपा कर रखा है. इसी के साथ लोंढरी तांडा क़स्बे में संक्रमण की चपेट में दस से अधिक मरीज मिले हैं. प्रशासन है कि नींद से जागने को तैयार नहीं है. ग्रामीणों ने नाली बनाने की गुहार प्रशासन से लगाई थी.लेकिन अभी तक नाली का निर्माण दूर की बाद स्वच्छता भी नहीं कराई गई.

चारों ओर फैल रहा घरों का गंदा पानी

लोंढरी तांडा  ग्राम में नाली निर्माण नहीं करायी गयी है. ग्रामीणों के घर से निकलने वाला गंदा पानी गांव में विभिन्न स्थानों पर जमा हो रहा है, जिसके चलते विभिन्न बीमारियां उत्पन्न होने की आशंका ग्रामीणों ने व्यक्त की है. स्थानीय ग्राम पंचायत प्रशासन को ग्रामीणों ने अनेक बार सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग का ज्ञापन सौंपा है. ग्राम पंचायत प्रशासन ने ग्रामीणों की मांग को दरकिनार कर नगर में स्वच्छता भी नहीं कराई है. जिसके कारण इलाके में संक्रमण दिन-ब-दिन विकराल रूप धारण कर रहा है.

10 कोरोना मरीज मिलने से दहशत

वहीं तांडा बस्ती में 10 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव आने से गांव में दहशत का माहौल निर्माण हो गया है. ग्रामीणों को स्वास्थ्य की चिंता सताने लगी है. प्रशासन को शिकायत करने के बावजूद ग्राम पंचायत सरपंच ग्राम विकास अधिकारी और ग्राम सेवक के कानों पर जूं तक नही रेंग रही है.लोंढरी तांडा के नागरिकों के स्वास्थ्य पर अस्वच्छता के कारण संकट मंडरा रहा है. तत्काल नाली निर्माण और स्वच्छता कराए जाने की मांग ग्राम पंचायत और पंचायत समिति को ज्ञापन सौंपकर की गई थी और बताया था कि दोनों गांवों में ग्रामीण हाथ मजदूर हैं. लॉक डाउन होने के कारण सभी मजदूर घरों में रुके हैं. 

रहिवासियों ने दी आंदोलन की चेतावनी

स्वच्छता नहीं कराई गई तो सभी मजदूरों के स्वास्थ्य को खतरनाक होने का अंदेशा व्यक्त किया गया था लेकिन अधिकारियों एवं विधायक की उदासीनता के चलते नागरिक नारकीय जीवन जीने में विवश है. तत्काल समस्या का छुटकारा नहीं किया गया तो व्यापक पैमाने पर आंदोलन करने की चेतावनी ग्रामीण कैलास राठौड़, भागचंद राठौड़, यशोदाबाई कारभारी, दलचंद राठौड़, सरदार जाधव, युवराज राठौड़, राहुल राठौड़, उमेश राठौड़, मिश्रीलाल राठौड़, मंगल राठौड़ सहित तांडा बस्ती के नागरिकों ने दी है.