बेरोजगार दिवस के रूप में मना मोदी का जन्मदिन

नाजुक दौर से गुजर रही अर्थ व्यवस्था

भुसावल. तहसील में 17 सितंबर को कांग्रेस कार्यकर्ता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन बेरोजगार दिवस के तौर पर मनाया और कहा के मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से करोड़ों लोग अपनी नौकरियों से हाथ धो बैठे हैं. देश की जनता असहाय हो गई है. पहले नोटबंदी के कारण देश और कारोबार को वित्तीय नुकसान हुआ. और अब देश की कई सरकारी कंपनियों को बेचना और निजीकरण करना शुरू है. वर्तमान स्थिति में जीडीपी में रोज़ गिरावट आ रही है. देश की अर्थव्यवस्था बहुत ही नाजुक दौर से गुज़र रही है

नौकरी के सृजन पर ध्यान नहीं

युवा कांग्रेस अध्यक्ष रवींद्र निकम ने कहा कि प्रधानमंत्री को युवकों के रोजगार पर ध्यान देने की आवश्यकता है. लेकिन मौजूदा सरकार नौकरी के सृजन को नजरअंदाज कर विभिन्न विवाद पैदा करना, विभाजन और झगड़े पैदा करना वर्तमान में देश में एकमात्र कार्यक्रम देखा जा रहा है. करोड़ों युवाओं रोजगार के कारण आज देश में पलायन करने की सोच रहे हैं. देश की ये हालात देखकर भुसावल की कांग्रेस कमेटी ने प्रधानमंत्री के जन्मदिन को राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के तौर पर मनाया है. इस कार्यक्रम में मो. इमरान इदरीस खान रवींद्र निकम मुनव्वर खान, भगवान भाऊ मेधे  सलीम गवली, विलास खरात, संतोष साल्वे, महेंद्र ढले,  शैलेश अहिरे, सुकदेव सोनवणे, अनवर तडवी जानी गवली, रानी खरात, हमीदा गवली अकील शाह पदाधिकारी, कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित थे.