इस साल कब-कब लगेगा ‘पंचक’, जानें इसमें क्या करें और क्या नहीं

    सीमा कुमारी

    धार्मिक और वैदिक दृष्टि से किसी भी शुभ और मांगलिक कार्यों को करने से पहले शुभ मुहूर्त अवश्य देखा जाता है। पंचांग के अनुसार, हर महीने में पड़ने वाले पांच दिन जिसे ‘पंचक’ के नाम से जाना जाता है, उसमें शुभ कार्यों करने की मनाही बताई गई है।

    ज्योतिष के अनुसार, जब चंद्रमा कुंभ और मीन राशि में रहता है, तब उस समय को ‘पंचक’ कहते हैं। मान्यता है कि, इस दौरान किया गया कार्य पांच गुना ज्यादा बढ़ जाता है। यही कारण है कि पंचक के दौरान किसी की मृत्यु हो जाने पर इसके दुष्प्रभाव से बचने के लिए विशेष रूप से पंचक की शांति पाठ भी कराई जाती है। आऒ जानें साल 2022 में कब-कब पड़ेगा ‘पंचक’ –

    साल 2022 में पंचक की तारीखें

    जनवरी महीने में

    05 जनवरी 2022, बुधवार को सायंकाल 07:54 से 10 जनवरी 2022, सोमवार को प्रात: 08:50 बजे तक

    फरवरी महीने में

    02 फरवरी, 2022, बुधवार को प्रात: 06:45 से 06 फरवरी 2022, रविवार को सायंकाल 05:10 बजे तक

    मार्च महीने में

    01 मार्च, 2022, मंगलवार को सायंकाल 04:32 से 06 मार्च 2022, रविवार को प्रात: 02:29 बजे तक

    28 मार्च 2022, सोमवार को रात्रि 11:55 से 02 अप्रैल 2022, शनिवार को प्रात: 11:21 बजे तक

    अप्रैल महीने में

    25 अप्रैल 2022, सोमवार को प्रात: 05:30 से 29 अप्रैल 2022, शुक्रवार को सायंकाल 06:43 बजे तक

     मई महीने में

    22 मई 2022, रविवार को प्रात: 11:12 से 27 मई 2022, शुक्रवार को प्रात: 00:39 बजे तक

    जून महीने में

    18 जून 2022, शनिवार को सायंकाल 06:43 बजे से 23 जून 2022, गुरुवार प्रात: 06:14 बजे तक

     जुलाई महीने में

    16 जुलाई 2022, शनिवार को प्रात: 04:17 से 20 जुलाई 2022, बुधवार को दोपहर 12:50 बजे तक

     अगस्त महीने में

    12 अगस्त 2022, शुक्रवार को दोपहर 02:49 से 16 अगस्त 2022, मंगलवार को रात्रि 09:07 बजे तक

    सितंबर महीने में

    09 सितम्बर 2022, शुक्रवार को प्रात: 00:39 से 13 सितम्बर 2022, मंगलवार को प्रात: 06:36 बजे तक

    अक्टूबर महीने में

    06 अक्टूबर 2022, गुरुवार को प्रात: 08:28 से 10 अक्टूबर 2022, सोमवार को सायंकाल 04:02 बजे तक

     नवंबर महीने में

    02 नवंबर 2022, बुधवार को दोपहर 02:16 बजे

    29 नवम्बर 29 2022, मंगलवार को सायंकाल 07:51 से 04 दिसंबर 2022, रविवार को प्रात: 06:16 बजे तक

     दिसंबर महीने में

    27 दिसंबर 2022 मंगलवार को प्रात: 03:31 से 31 दिसंबर 2022, शनिवार को प्रात: 11:47 बजे तक

     ‘पंचक’ में क्या नहीं करना चाहिए

    मान्यता है कि, पंचक के दौरान घास, लकड़ी आदि ईंधन इकट्ठा करके नहीं रखना चाहिए. इसमें नई लकड़ी घर में नहीं लाना चाहिए और न ही लकड़ी से जुड़े काम की शुरुआत करनी चाहिए।

    ज्योतिष-शास्त्र के अनुसार पंचक के समय घर की छत नहीं डलवाना चाहिए, क्योंकि इससे दोष होता है।

    पंचक के समय में चारपाई बुनना या बनवाना अत्यंत अशुभ माना जाता है। मौजूदा परिप्रेक्ष्य में पंचक के पांच दिनों में पलंग, फर्नीचर आदि को नहीं खरीदना चाहिए।

    पंचक के दौरान दक्षिण दिशा की यात्रा नहीं करनी चाहिए, क्योंकि यह दिशा यम की दिशा मानी गई है।