covid-19: Five out of every 100 patients die in Indore, death rate higher than national average

इंदौर. देश में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में संक्रमण के रोजाना सामने आने वाले मामलों में गिरावट देखी जा रही है, लेकिन मरीजों की मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत के मुकाबले ज्यादा बनी हुई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने बृहस्पतिवार को बताया, “हमें जिले में पिछले 24 घंटे के दौरान 1,259 नमूनों की जांच में कोविड-19 के 19 नये मरीज मिले हैं।” उन्होंने बताया कि इन 19 नये मामलों के साथ ही जिले में संक्रमितों की कुल तादाद 4,734 से बढ़कर 4,753 हो गयी है।

सीएमएचओ ने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित 68 वर्षीय महिला समेत चार और मरीजों की अलग-अलग अस्पतालों में इलाज के दौरान मौत हो गयी। इसके बाद जिले में इस महामारी की चपेट में आने के बाद दम तोड़ने वाले लोगों की तादाद बढ़कर 236 पर पहुंच गयी है। सरकारी आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि जिले में कोविड-19 मरीजों की मृत्यु दर बृहस्पतिवार सुबह लगभग पांच फीसद थी। यह 2.95 प्रतिशत के मौजूदा राष्ट्रीय औसत से दो फीसद ज्यादा है। स्वास्थ्य विभाग के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि जिले में कोविड-19 से मरने वालों में ज्यादातर लोग 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले थे।

वे मधुमेह, उच्च रक्तचाप और श्वसन तंत्र संबंधी रोग (सीओपीडी) सरीखी पुरानी बीमारियों से पहले ही जूझ रहे थे। इस बीच, जिले में अब तक कुल 3,576 लोग इलाज के बाद इस महामारी के संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। नतीजतन, उपचार के बाद मरीजों के इस महामारी से उबरने की दर (रिकवरी रेट) बढ़कर करीब 75 प्रतिशत पर पहुंच गयी है। जिले में इस प्रकोप की शुरूआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी।(एजेंसी)