Kamal Nath

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस (Congress) के बड़े नेता कमलनाथ (Kamal Nath) को चुनाव आयोग (Election Commission) से बड़ा झटका लगा है बुधवार को केंद्रीय चुनाव आयोग ने उनके खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज करने का आदेश दिया है आयोग ने यह आदेश 2019 के लोकसभा चुनाव में मुख्यमंत्री रहते हुए पैसे का गलत इस्तेमाल करने के आरोप पर दिया है

ज्ञात हो कि आठ बार छिंदवाडा लोकसभा सीट से सांसद रहे कमलनाथ ने 2019 के लोकसभा चुनाव में अपने बेटे नकुल नाथ को उतारा था मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने अपने बेटे को जीतवाने के लिए पूरी जान लगा दी थी उन्होंने चुनाव के पहले राज्य सरकार का पूरा बजट छिंदवाडा में लगा दिया था, जिसके बाद भी नकुल नाथ केवल 36 हजार से कुछ ज्यादा वोट से जीत पाए थे 

उपचुनावों के समय आयोग ने थी कार्यवाही 

यह पहला मौका नहीं है चुनाव आयोग ने कांग्रेस नेता पर कार्यवाही की है कुछ दिन पहले हुए 26 सीटों पर हुए उपचुनाव में बार बार आचार संहिता के बार बार उल्लंघन और भाजपा उम्मीदवार और महिला कल्याण मंत्री इमारती देवी को लेकर आपत्तिजनक बयान देने को लेकर स्टार प्रचारकों की सूचि से नाम हटा दिया था

ज्ञात हो कि, इंदौर के डबरा विधानसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में चुनावी सभा के दौरान कमलनाथ ने कहा था कि, “सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे साधे हैं. यह उसके जैसे नहीं है, क्या है उसका नाम? मैं क्या उसका नाम लूं आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं, आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, ‘यह क्या आइटम है’।”