CM Uddhav

    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना वायरस (Corona) के बढ़ते मामलों के मद्देनजर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने रविवार की रात (28 मार्च) से राज्य में रात्रि कर्फ्यू लगाने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि खतरा खत्म नहीं हुआ है, बल्कि यह और बढ़ गया है। लोगों को यह समझने की जरूरत है। अब सख्त कदम उठाना अनिवार्य हो गया है। जिले के डीएम स्थिति के आधार पर लॉकडाउन लगा सकते हैं।

    उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में कोरोना पूरी तरह बेकाबू हो गया है। मामले तेजी से सामने आ रहे है। जिसे देखते हुए सरकार ने पूरे राज्य में रविवार 28 मार्च से नाइट कर्फ्यू लगाने के की घोषणा कर दी। इस दौरान मॉल आदि रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक बंद रहेंगे। वहीं सीएम ने सभी लोगों को कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करने की अपील की है।

    शुक्रवार सीएम उद्धव ठाकरे ने सभी जिलों के डीएम के साथ बैठक की। इस बैठक के बाद सीएम ने नाइट कर्फ्यू की घोषणा की। उन्होंने कहा कि, “हमारी लॉकडाउन करने की बिलकुल भी इच्छा नहीं है लेकिन बढ़ते कोरोना मरीजों को देखते हुए यह शंका होने लगी है कि कोरोना से लड़ने के लिए बड़े पैमाने पर खड़ी की स्वास्थ्य सुविधाएं कहीं कम न पड़ जाएं? उन्होंने सभी जिला प्रमुखों को निर्देश दिया कि स्वास्थ्य सुविधा, बेड तथा दवाओं की उपलब्धता पर ध्यान केंद्रित करें।”

    वहीं सीएम ने चेतावनी देते हुए कहा कि, “अगर मरीजों की संख्या कम नहीं हुई तो नियमों को और भी ज्यादा सख्त किया जा सकता है।” साथ ही उन्होंने मॉल्स, बार और होटल्स के लिए बनाए गए नियमों का सही से पालन हो रहा है या नहीं, इसकी कड़ाई से जांच करने का आदेश दिया।

    गौरतलब है कि देश के कुल उपचाराधीन मरीजों में से 73.64 प्रतिशत रोगी तीन राज्यों- महाराष्ट्र, केरल और पंजाब में हैं। कोविड-19 संक्रमण के प्रतिदिन के मामलों में, महाराष्ट्र में गुरुवार को एक दिन में सबसे अधिक 35,952 मामले सामने आए। वहीं मुंबई में एक दिन में सबसे अधिक 5,505 मामले सामने आए। हालांकि राज्य में टीकाकरण तेजी से हो रहा है। टीकाकरण के मामले में महाराष्ट्र देश में अव्वल है। राज्य में कोरोना की अब तक कुल 52 लाख 65 हजार 462 टीके लगाए गए हैं।