Maharashtra Corona: Health Minister Rajesh Tope said - Restrictions can be extended even from May 1
File

मुंबई. देश में सभी लोग कोरोना महामारी ( Corona epidemic) के स्थायी प्रकोप को रोकने के लिए वैक्सीन (vaccine)का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. कोरोना वैक्सीन का परीक्षण अंतिम चरण में है और जल्द ही उपलब्ध होगी और राज्य सरकार ने भी कोरोना टीकाकरण की तैयारी शुरू कर दी है. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने कहा कि पहले चरण में राज्य में तीन करोड़ लोगों को कोविड वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा.

टोपे ने कहा कि केंद्र द्वारा बनाई गई योजना के अनुसार, राज्य में जिस तिथि पर टीका दिया जाना है, उसका संदेश संबंधित व्यक्ति को भी जाएगा. उसके बाद उस व्यक्ति को पहचानने के बाद ही उसे टीका लगाया जाएगा.

 कोरोना भी बीमारी में शामिल

राजेश टोपे ने बताया कि केंद्र सरकार टीकाकरण के बारे में राज्य से जानकारी मांगी है. इसमें स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, आपातकालीन सेवा के कर्मचारियों, 50 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों और अन्य बीमारियों वाले 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों से जानकारी एकत्र की जा रही है. सरकार 27 आपातकालीन और पांच गंभीर बीमारियों के लिए सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों को भुगतान करती है. अब इसमें कोरोना को भी शामिल कर लिया गया है.

90 हजार लोगों की सूची तैयार

स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने बताया है कि सबसे पहले स्वास्थ्य विभाग और पुलिस जवानों को कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी. इसके लिए स्वास्थ्य कर्मियों की सूची तैयार करने का काम अंतिम चरण में है. 90 हजार लोगों की सूची तैयार कर ली गयी है. आईएमए के जरिए जानकारी मंगाई जा रही है. वैक्सीन लगाने के लिए 16 हजार 245 कर्मचारियों का को -विन पोर्टल पर पंजीकरण किया गया है, जबकि  90 हजार से अधिक लाभार्थियों का पंजीकरण किया गया है. लगभग 2 लाख 60 हजार सरकारी स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाना है.

कोल्डस्टोरेज की व्यवस्था

वैक्सीन को रखने के लिए राज्य में कोल्डस्टोरेज की व्यवस्था की गयी है. राज्य स्तर पर एक,विभागीय स्तर पर 9 ,जिलास्तर पर 34 ,महा मंडल के 27,कोल्डस्टोरेज तैयार हैं .कुल मिलाकर 3  हजार 135 चैन सिस्टम के केंद्र उपलब्ध हैं. स्वास्थ्य कर्मचारियों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर वैक्सीन दी जाएगी.एक स्थान पर 100 लोगों के टीकाकरण की व्यवस्था की जा रही है.

टीकाकरण के लिए 5 व्यक्तियों की 500 टीमें बनाई जाएंगी

राज्य सरकार ने 8 मुख्य प्रशिक्षक को प्रशिक्षण दिया गया है. सभी 8 प्रमुख  ट्रेनर बीएमसी अस्पताल और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को प्रशिक्षण दे रहे हैं. इस प्रशिक्षण से मुख्य कोच बनाए जा रहे हैं. वह हेड कोचिंग कॉर्पोरेशन के 24 वार्डों में लगभग 2500 कर्मचारियों को प्रशिक्षित करेगा. इन कर्मचारियों के टीकाकरण के लिए 5 व्यक्तियों की 500 टीमें बनाई जाएंगी. मरीजों को टीका लगाते समय कोरोना वैक्सीन वितरण, नियोजन, इसके उपयोग, देखभाल की जाती है. इसके अलावा मरीजों पर दुष्प्रभाव होने पर क्या करें इसके लिए भी  टीकाकरण में उपयोग किए जाने वाले सॉफ्टवेयर से निपटने के लिए प्रशिक्षण भी प्रदान किया जा रहा है. प्रशिक्षण की प्रक्रिया जनवरी के अंत तक पूरी हो जाएगी.

पहले चरण में जिन्हें कोरोना वैक्सीन का डोज लगाया जाना है उसकी सूची तैयार कर ली गई है. पहले चरण में राज्य के 3 करोड़ लोगों को कोरोना का डोज दिया जाएगा. इसके बाद जितनी वैक्सीन की आवश्यकता होगी केंद्र सरकार को सूचित किया जाएगा.

-राजेश टोपे, स्वास्थ्य मंत्री, महाराष्ट्र