murder

पुणे. पुणे जिले के खेड़ में एक ससुर ने अपने ही बेटे की दूसरी पत्नी की हत्या करने की सुपारी दी। लेकिन जान ससुर को ही गवानी पड़ी। क्योंकि सुपारी लिए आरोपियों ने बहु को मारने की बजाय ससुर की ही हत्या कर दी। मारे गए व्यक्ति का नाम विनायक पानमंद है।

बता दें कि, विनायक के बेटे अजीत की शादी हो चुकी थी। लेकिन, शादी होने के बावजूद अजीत ने अपने परिवार को बताए बिना दो साल पहले फिर से प्रेम विवाह कर लिया था। कुछ दिनों बाद यह बात पिता विनायक को पता चली। अजित की यह हरकत पिता को पसंद नहीं आई जिसके कारण पिता और बेटे में रोजाना झगडे होने लगे। विनायक को ऐसे लगने लगा कि, यह सब बेटी की दूसरी शादी की वजह से हो रहा है। 

इसलिए पिता विनायक ने लड़के की दूसरी पत्नी को मारने की साजिश रची। इसके लिए, उन्होंने अविनाश राठौर, मोहम्मद शहजाद इस्लाम और मोहम्मद जब्बार को दूसरी पत्नी को खत्म करने के लिए 1.34 लाख रुपये की सुपारी दी। जिसके बाद आरोपियों ने हत्या की साजिश रची। लेकिन एक सुपारी एक महिला की होने के कारण आरोपी खुद डर गए थे। इसलिए खून करने में देरी हो रही थी। इससे विनायक काफी चिंतित हो गए थे।

इस बीच, खून करने में देरी के कारण मृत विनायक (ससुर) आरोपियों को पैसे वापस मांगने लगा। लेकिन आरोपी पैसे देने में असमर्थ थे इसलिए उन्होंने विनायक का खून करने की ठान ली। एक दिन आरोपियों ने विनायक को खेड़ के वराले गांव में बुलाया और वही गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। पिंपरी-चिंचवड़ की महालुंगे पुलिस ने मामले में पिस्तौल के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस दूसरे की तलाश कर रही है। पकड़े गए आरोपियों में अविनाश राठौर और मोहम्मद शहजाद इस्लाम उर्फ छोटू हैं। मोहम्मद जब्बार एक भगोड़ा भी है।