sanjay rathod

  • कहा- फिर से करूंगा काम काज की शुरुआत

मुंबई. मॉडल पूजा चव्हाण (Pooja Chavan) की संदेहास्पद मौत (Death) को लेकर सुर्खियों में आए राज्य के वनमंत्री संजय राठोड (Forest Minister Sanjay Rathore) 14 दिन के अज्ञातवास से बाहर आ गए हैं। उन्होंने बंजारा समाज की अराध्य पोहरादेवी मंदिर में अपने परिजनों और समर्थकों के साथ पूजा किया। इस अवसर पर उन्होंने दावा किया कि वे कहीं छुपे नहीं थे, बल्कि केवल 10 दिन मीडिया (Media) से दूर थे। इस दौरान वे अपने मुंबई (Mumbai) स्थित फ्लैट में रह कर प्रशासनिक काम  काज निपटा रहे थे। उन्होंने यह भी कहा है कि अब वे फिर से अपना नियमिति काम काज शुरु करेंगे।

पुणे में पूजा चव्हाण की मौत मामले में वन मंत्री संजय राठोड को जिम्मेदार ठहराए जाने के बाद से वे मीडिया के सामने नहीं आये थे। यही नहीं मंत्रिमंडल और शिवसेना की  बैठक में भी वन मंत्री अनुपस्थित थे। जिसकी वजह से इस मामले में उनके शामिल होने की आशंका के तहत विपक्षी नेताओं की तरफ से कार्रवाई की मांग तेज हो रही थी। मंगलवार को संजय राठोड अपने समर्थकों एवं समाज के लोगों के साथ वासिम जिला अंतर्गत पोहरादेवी  मंदिर में दाखिल हुए।   

निभा रहा था परिवार की जिम्मेदारी 

पत्रकारों से बातचीत के दौरान राठोड ने कहा कि 14 दिन नहीं केवल 10 दिन मीडिया से दूर था। जिस तरह मीडिया में हमारी बदनामी हो रही थी, उसको देखते हुए मैं अपने परिवार के साथ घर में ही था। मेरे माता-पिता वृद्ध हैं। हमारी पत्नी को ब्लडप्रेशर है ऐसे में अपने परिवार की जिम्मेदारी भी हमारा कर्तव्य है। उसको मैं निभा रहा था।

ओबीसी समाज का नेता होने की वजह से षड्यंत्र 

वन मंत्री संजय राठोड ने कहा कि  पूजा चव्हाण  बंजारा समाज की युवती थी उसकी मौत का हमें दुःख है। उसके परिवार के दुःख में हम शामिल हैं। मैं ओबीसी समाज का नेतृत्व करने वाला कार्यकर्ता हूं । 30 साल से राजनीति में हूं, चार बार निर्वाचित हुआ हूं। हमारा राजनीतिक जीवन को बर्बाद करने का प्रयत्न किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो मीडिया में दिखाया एवं बताया जा रहा है उसमें किसी तरह की सच्चाई नहीं है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जांच का आदेश दिया है। पुलिस जांच कर रही है, लेकिन हमारे व समाज के खिलाफ गंदी राजनीति करने का प्रयास किया जा रहा है।